Breaking News देश राजनीती राज्य होम

Varansi – वाराणसी प्रशासन द्वारा दूसरे प्रदेशों से आए हुए विद्यार्थियों को उनके प्रदेश पहुंचाने की तैयारी! !Indianow24

वाराणसी से भास्कर राय की रिपोर्ट।

वाराणसी प्रशासन द्वारा दूसरे प्रदेशों से आए हुए विद्यार्थियों को उनके प्रदेश पहुंचाने की तैयारी!

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा लॉकडाउन होने के बावजूद राजस्थान के कोटा में फंसे हुए उत्तर प्रदेश के हजारों छात्रों को बसों के जरिए उनके घर तक पहुंचा कर माननीय संवेदनशीलता का नया उदाहरण पेश किया गया और इसी सकारात्मक सोच को आगे बढ़ाते हुए वाराणसी जिले में फंसे हुए अन्य प्रदेशों से आए हुए विद्यार्थियों को वापस उनके प्रदेश भेजने की तैयारी की जा रही है। ऐसे विद्यार्थी जो अन्य प्रदेशों के निवासी हैं, वे यदि अपने प्रदेश वापस जाना चाहते हैं और यदि वे किसी बस या अन्य बड़े वाहन का इंतजाम अपने स्वयं के खर्चे पर कर सकते हैं तो उन्हें उनके प्रदेश से वार्ता करके पास निर्गत करने का कार्य अगले दो-तीन दिन में किया जा सकता है।
वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने इस बारे में विस्तृत जानकारी दी है।
इसके लिए विद्यार्थियों को यह स्पष्ट रूप से को यह स्पष्ट रूप से बताया गया कि विद्यार्थी बस का इंतजाम करें और बस पर जाने वाले का नाम, पहुंचने का जनपद, पूरा पता, मोबाइल नंबर, आधार नंबर आदि विवरण नोट करके पूरी सूची एडीएम सिटी के 9454417030 इस नंबर पर व्हाट्सएप्प नंबर पर भेज दें।
इस सूची के साथ ही उन्हें बस का नंबर, ड्राइवर का नाम, मोबाइल नंबर भी उपलब्ध कराना होगा ताकि उसका पास निर्गत किया जा सके। इस कार्य हेतु केवल व्हाट्सएप का ही प्रयोग करें ज्यादा फ़ोन न करें। छोटी गाड़ियों से जाना अनुमन्य नहीं होगा इसलिए 20 या उससे ज्यादा अधिक क्षमता की बसों का ही इंतजाम करना आवश्यक होगा। सोशल डिस्टनसिंग के नियम के मुताबिक बस की जितनी क्षमता होगी उससे आधे ही लोग उसमे अनुमन्य किये जायेंगे। एक बस में केवल एक प्रदेश के लोग ही होने चाहिए।
उनकी सूची और बस विवरण उनके प्रदेश में भेज कर पहले अनुमति ली जाएगी, यदि उनका प्रदेश अनुमति देगा तब ही अनुमति जारी की जाएगी। यह नंबर और व्यवस्था केवल वाराणसी जनपद के लिए है, और कोई इस पर फ़ोन न करें।

इसी प्रकार यदि वाराणसी के छात्र उत्तर प्रदेश के ही किसी अन्य जनपद के निवासी हैं और उस जनपद में वापस जाना चाहते हैं तो वे भी जनपद वार सूची उसी प्रारूप में बनाकर वाहन का इंतजाम कर वाहन के विवरण सहित व्हाट्सएप ऊपर दिए गए नंबर पर मैसेज कर दें। उनके जनपद में वार्ता करके अनुमति प्राप्त होने के बाद उनका भी पास एक-दो दिन के बाद जारी किया जा सकेगा।

पुनः स्पष्ट किया जाता है कि इसके लिए धनराशि का वहन स्वयं यात्रियों को ही करना होगा, कोई अन्य व्यवस्था कराने के लिए फोन करके समय नष्ट न करें। सूची और बस का विवरण देने के 1-2 दिन बाद और उनके प्रदेश से अनुमति आने के बाद ही बस का पास निर्गत किया जाएगा।

इस कार्य को करने के लिए आपस मे केवल फ़ोन का प्रयोग करें। कोई भी एक जगह इकट्ठे ना हो और लॉक डाउन का उल्लंघन कदापि ना करें। यदि किसी के भी इकट्ठा होकर, या भीड़ जुटा कर यह कार्य करने की जानकारी प्राप्त हुई तो तत्काल इस व्यवस्था को समाप्त कर दिया जाएगा और किसी के भी पास वाराणसी से जारी नहीं कराए जाएंगे।