Breaking News देश राज्य होम

Varanasi-वाराणसी जिले में 31 मई को सुबह 9.30 बजे से एक साथ लगभग दस हजार गायत्री साधक अपने अपने घरों में एक साथ औषधियुक्त हवन सामग्री से करेंगे अग्निहोत्र!Indianow24

Varanasi-वाराणसी जिले में 31 मई को सुबह 9.30 बजे से एक साथ लगभग दस हजार गायत्री साधक अपने अपने घरों में एक साथ औषधियुक्त हवन सामग्री से करेंगे अग्निहोत्र!

वाराणसी से डिस्ट्रिक्ट रिपोर्टर भास्कर राय की रिपोर्ट;

वाराणसी। अखिल विश्व गायत्री परिवार, गायत्री तीर्थ शांतिकुंज, हरिद्वार के तत्वावधान में 31 मई को भारत सहित विश्व के लगभग 100 से अधिक देशो में घर-घर गायत्री महायज्ञ का आयोजन सुबह 9.30 से 11 बजे तक एवं सायं 5 बजे से 7बजे तक किया जाएगा जिसमें लाखों गायत्री साधक अग्निहोत्र करेंगे।

मुख्य प्रबन्ध ट्रस्टी गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट के गंगाधर उपाध्याय ने बताया कि गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट द्वारा पिछले एक वर्ष से गृहे-गृहे यज्ञ के माध्यम से समाज को जोड़ने का कार्य निरन्तर किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि यज्ञ विश्व की प्राचीनतम सैनिटाईजेशन की प्रक्रिया है। वेद, पुराण, उपनिषद और आयुर्वेदिक ग्रन्थों में जटिल से जटिल रोगों से स्वास्थ्य रक्षा के लिये आयुर्वेदिक औषधियुक्त हवन सामग्री और मन्त्रों द्वारा उपचार का उल्लेख मिलता है। गंगाधर उपाध्याय ने बताया कि वाराणसी जिले में सुबह 9.30 बजे से एक साथ लगभग दस हजार गायत्री साधक अपने अपने घरों में एक साथ औषधियुक्त हवन सामग्री से अग्निहोत्र करेंगे।

गायत्री परिवार के रमन कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि गृहे-गृहे गायत्री महायज्ञ को सफल बनाने के लिए गायत्री तीर्थ शान्तिकुंज हरिद्वार द्वारा ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिसमें मन्त्रों के उच्चारण व यज्ञ व्यवस्था सम्बन्धी क्रिया सिखायी जा रही है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के रोकथाम हेतु सरकार द्वारा दिये गये गाईडलाइन एवं सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुये गायत्री साधको से अपने-अपने घरों में गायत्री महामंत्र, महामृत्युंजय महामंत्र, सूर्य गायत्री महामंत्र एवं महाकाल मंत्र से आयुर्वेदिक औषधियुक्त हवन सामग्री से अग्निहोत्र करने का अनुरोध किया गया है।