Breaking News देश बिज़नेस राजनीती राज्य होम

Varanasi-वाराणसी का लंगड़ा और दशहरी आम हवाई मार्ग से जाएगा दुबई ,लखनऊ में होगी आमों की पैकेजिंग!Indianow24

वाराणसी का लंगड़ा और दशहरी आम हवाई मार्ग से जाएगा दुबई ,लखनऊ में होगी आमों की पैकेजिंग!

वाराणसी से
डिस्ट्रिक्ट रिपोर्टर
रविंद्र सिंह की रिपोर्ट:
IndiaNow24!

वाराणसी। अब बनारसी का लंगड़ा और दशहरी आम दुबई भेजा जाएगा।राजातालाब के भिखारीपुर स्थित बगीचे से बनारसी लंगड़ा एवं दशहरी आज यानी गुरुवार को अपराहन 3:00 बजे दुबई के लिए निर्यात किया जाएगा।
कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि यहां से सड़क मार्ग से आम का खेप पहले लखनऊ जाएगा और वहां पर इसका पैकेजिंग करने के पश्चात हवाई मार्ग से दुबई के लिए रवाना किया जाएगा।
अब गर्मी शुरू हो चुकी है ऐसे में मीठी सुगंध भी हवा में घुलने लगी है। बनारसी लंगड़ा आम की मिठास और महक अब दुबई के लोग भी ले सकेंगे। वैसे तो बनारस आज भी बहुत-सी चीजों के लिए मशहूर है, पर जिस चीज के लिए वह सारे उत्तर भारत में प्रसिद्ध है, वह है बनारस का लंगड़ा आम, जिसे देखते ही लोगों के मुंह में पानी आ जाता है। अब इस आम से विदेशी भी अछूते नहीं हैं।
लंगड़ा आम का नाम लंगड़ा कैसे पड़ा

बनारस का लंगड़ा आम पूरे उत्तर भारत में प्रसिद्ध हैं। करीब 250 से 300 साल पुरानी बात है जब एक व्यक्ति ने आम खाकर उसका बीज घर के आंगन में लगा लिया। पेड़ के आम जब मीठे व गूदे से भरे आने लगे तो लोगों को भाने लगा। उस पेड़ को लगाने वाला व्यक्ति लंगड़ा कर चलता था इसलिए गांव के लोग उसे लंगड़ा कहते थे। इस वजह से धीरे-धीरे आम की उस किस्म का नाम लंगड़ा ही पड़ गया। हालांकि इस आम की किस्म देश भर में मिलती है लेकिन बनारस के लंगड़़े आम की बात ही कुछ और है। देश में 1500 किस्म के आम मिलते हैं, लेकिन इन सबमें लंगड़े आम का कोई तोड़ नहीं। मई से अगस्त के बीच आने वाले इस आम का रंग हरा या हल्का पीला होता है।