Breaking News देश राज्य होम

सोहना। 15 साल पहले बंद छात्राओं के टेªडों को दोबारा से चालू कराने की उठी मांग

सोहना। 15 साल पहले बंद छात्राओं के टेªडों को दोबारा से चालू कराने की उठी मांग

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

सोहना। सोेहना आईटीआई में 15 साल पहले बंद की गई छात्राओं के विशेष टेªडों को दोबारा से चालू कराने की मांग उठने लगी है। ताकि क्षेत्र की बेटियां भी रोजगार संबंधित कोर्स करके रोजगार के क्षेत्र में जा सके।

सोहना की आईटीआई में करीब 15 साल पहले यहा चलने वाली छात्राओं की विशेष सिलाई-कटाई की टेªडों को बंद कर दिया गया था। उससे बाद से आज तक इन टेªडों को दोबारा से स्थानीय प्रशासन ने चालू कराने की जरूरत नहीं समझी। जिसका परिणाम यह है कि क्षेत्र की बेटियां गुरूग्राम, पलवल, नूंह जैसे शहरांे खुली आईटीआई में जाकर कोर्स करने को मजबूर है। जबकि दूर होने के कारण 40 से 50 फीसदी छात्राएं बारहवीं कक्षा के बाद आईटीआई करने की इच्छाओं को दफन कर देती है

क्या कहना है छात्राओं का

दमदमा निवासी उर्मिला का कहना है कि आज रोजगार पाने के लिए केार्स की डिग्री का होना जरूरी है। जिसके लिए मध्यम वर्गी परिवार की बेटियों को आईटीआई जैसे संस्थान से कोर्स करना आसान होता हेै। लेकिन सोहना की आईटीआई में लड़कियों के लिए विशेष ट्रेड नहीं है। जोकि आज के युग में बहुत ही जरूरी है। स्नेहलता का कहना है कि सरकार एक तरफ बेटियों की शिक्षा पर बहुत ध्यान दे रही है। वहीं दूसरी तरफ सोहना आईटीआई में बंद लड़कियों की टेªडों को चालू करने के लिए किसी का ध्यान नहीं है।

क्या कहते है आईटीआई प्रधानाचार्य

सोहना आईटीआई के प्रधानाचार्य धर्मपाल ने बताया कि अब से पहले किसी भी अधिकारी ने लड़कियों की बंद टेªडों को चालू करने का प्रयास नहीं किया। जबकि आईटीआई के नये भवन में लड़कियों की आईटीआई के लिए विशेष विंग तैयार किया गया था। जो आज तक खाली है। वे नये सत्र में लड़कियों के लिए टेªड चालू करने के लिए उच्चाधिकारियों से जिला व प्रदेश स्तर पर मांग करेंगे।