Breaking News देश राज्य होम

पाटलिपुत्र विवि ने परीक्षा के दौरान कोरोना संक्रमण को दी दावत, अब सांसत में अभ्यर्थी

Patna CoronaVirus News पाटलिपुत्र विवि की ओर से आयोजित परीक्षा में कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। रविवार को पाटलिपुत्र विवि में प्री-पीएचडी-2021 इंट्रेंस टेस्ट का आयोजन किया गया। इसमें छात्रों को पास-पास बैठाया गया। अब परीक्षार्थियों की चिंता बढ़ गई है।

पटना: एक ओर राज्य में कोरोना के मामले रोज नया रिकाॅर्ड कायम कर रहे हैं दूसरी ओर पाटलिपुत्र विवि की ओर से आयोजित परीक्षा में कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। रविवार को पाटलिपुत्र विवि में प्री-पीएचडी-2021 इंट्रेंस टेस्ट का आयोजन किया गया। इस परीक्षा को लेकर कंकड़बाग स्थित राम कृष्ण द्वारिका महाविद्यालय (आरकेडी) परीक्षा केंद्र पर कोविड नियमों की जमकर अनदेखी की गई। छोटी-छोटी बेंच पर दो-दो अभ्यर्थियों को बैठाया गया। जबकि इस केंद्र पर कुलपति व कुलसचिव ने भी निरीक्षण किया। गृह मंत्रालय के नियमों के अनुसार पूर्व निर्धारित परीक्षाओं में कोविड नियमों का कड़ाई से अनुपालन कराया जाना है।

अधिकारी बोले-नियमों की किया गया पालन, तस्वीर कह रही कुछ और

इस बाबत विवि के मीडिया प्रभारी डॉ. बीके मंगलम ने बताया कि कोविड नियमों का पूर्णतः अनुपालन किया गया। मास्क, हैंड सैनिटाइजर एवं एसओपी का कड़ाई से ध्यान रखा गया। कुलपति प्रो. एसपी सिंह व कुलसचिव प्रो. जितेंद्र कुमार स्वयं केंद्रों का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि परीक्षा के बेहतर संचालन में डीएसडब्ल्यू प्रो. एके नाग, प्रॉक्टर प्रो. मनोज कुमार, परीक्षा नियंत्रक डॉ. महेश मंडल, डीन साइंस डॉ. एसके सिंह, प्रो. शालिनी, राजीव रंजन, प्रो शैलेन्द्र, प्रो आइएच खान, डाॅ दिवाकर इत्यादि की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

छह केंद्रों पर आयोजित हुई परीक्षा, 41 सौ हुए शामिल

पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय, पटना ने पहली बार प्री-पीएचडी-2021 की परीक्षा गई। इसके लिए पटना के छह परीक्षा केंद्रों पर  परीक्षार्थियों ने शांतिपूर्वक परीक्षाएं दीं। किसी भी केंद्र से कोई अप्रिय घटना की खबर नहीं है। पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने कई परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। एएन काॅलेज, पटना में सर्वाधिक लगभग 1500 बच्चों ने परीक्षाएं दीं। कुलपति ने परीक्षा के समापन के बाद बताया कि पारदर्शिता और शुचिता किसी भी परीक्षा के लिए अत्यंत आवश्यक है। मीडिया प्रभारी डाॅ. बी.के. मंगलम् ने बताया कि परीक्षा में 91 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने परीक्षाएं दी हैं। कुल अभ्यर्थियों की संख्या 4533 थी, जिसमें लगभग 4100 बच्चे परीक्षा में शामिल हुए।

14 को जारी होगी आंसर-की

ओएसडी (पीएचडी) डाॅ. आर.यू. सिंह ने बताया कि 14 अप्रैल, 2021 को सारे विषयों की ‘आंसर-की’ वेबसाइट पर जारी कर दी जाएगी। इसके लिए कवायद आरंभ की जा चुकी है।

WhatsApp chat