Breaking News देश राज्य होम

Indian Railway: रेलवे के इस नियम से महंगी हो जाएगी रेल यात्रा, NER में लागू हुआ नियम

एयरपोर्ट की तर्ज पर रेलवे स्टेशनों पर भी अब बैग सैनिटाइज किए जाएंगे। गोरखपुर में मुख्य प्रवेश द्वार पर मशीन लगाई गई है। हालांकि इस सुविधा के लिए रेलवे ने शुल्क भी निर्धारित कर दिया है। यात्रियों को प्रति बैग 10 रुपये खर्च करने होंगे। लोगों की जेब ढीली होगी।

गोरखपुर। एयरपोर्ट की तर्ज पर रेलवे स्टेशनों पर भी अब बैग सैनिटाइज किए जाएंगे। पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर और लखनऊ जंक्शन पर मशीनें स्थापित कर दी गई हैं। गोरखपुर में मुख्य प्रवेश द्वार पर मशीन लगाई गई है। हालांकि, इस सुविधा के लिए रेलवे ने शुल्क भी निर्धारित कर दिया है। यात्रियों को प्रति बैग 10 रुपये खर्च करने होंगे। लोगों की जेब ढीली होगी।

स्टेशन के मुख्य प्रवेश द्वार पर स्थापित हुई बैग सैनिटाइजर मशीन

स्टेशन निदेशक आशुतोष गुप्ता ने मशीन का उद्घाटन किया। मशीन की उपयोगिता पर चर्चा करते हुए उन्होंने बताया कि सैनिटाइजर मशीन से निकलने वाली किरणें बैग को पूरी तरह से विषाणुमुक्त कर देगी। कोरोना काल में सुरक्षित यात्रा की तरफ रेलवे का यह अहम कदम है। यहां जान लें कि भारतीय रेलवे के सभी प्रमुख स्टेशनों पर बैग सैनिटाइज मशीन लगाई जाएगी। पूर्वोत्तर रेलवे के गोरखपुर और लखनऊ सहित अभी तक 25 स्टेशनों पर यह मशीन लगा दी गई है। इन मशीनों को लगाने व संचालन की जिम्मेदारी निजी हाथों को सौंपी गई है। स्टेशनों पर पहले से ही हैंड सैनिटाइजर और शरीर का तापमान बताने वाली सेंसरयुक्त मशीनें लगी हुई हैं। इन मशीनों का उपयोग करने के लिए कोई शुल्क नहीं देना पड़ता है।

40 रुपये में पैक किए जाएंगे बैग

बैग सैनिटाइज के साथ रेलवे ने बैग पैकिंग की व्यवस्था भी कर दी है। कर्मी बैग सैनिटाइज करने के साथ यात्री की सहमति पर उसकी पैकिंग भी कर देंगे। लेकिन उसके लिए अलग से 40 रुपये देने होंगे। पैकिंग के लिए भी अलग से मशीन लगाई गई है।

यात्रियों ने शुरू किया शुल्क का विरोध

यात्रियों को रेलवे की शुल्क व्यवस्था नहीं भा रही। उद्घाटन के बाद ही यात्रियों ने शुल्क का विरोध करना शुरू कर दिया। कुछ यात्री बिना बैग सैनिटाइज कराए ही प्रवेश कर गए। कुशीनगर के राघव, मनोहर, शिवाकांत और मुकेश आदि यात्रियों का कहना था कि एक तो जनरल टिकटों की बिक्री बंद हो गई है। आरक्षण, स्पेशल और सुपरफास्ट के नाम पर किराया बढ़ गया है। ऊपर से बैग सैनिटाइज करने के लिए शुल्क निर्धारित कर दिया है। कोरोना काल में सुरक्षा के नाम पर यात्री जगह-जगह ठगे जा रहे हैं।

WhatsApp chat