Breaking News देश राज्य होम

सीतापुर में भाजयुमो बिसवां नगर उपाध्यक्ष समेत दो की हादसे में मौत, अज्ञात वाहन ने बुलेट में मारी टक्‍कर

सीतापुर के बिसवां नगर उपाध्यक्ष 24 वर्षीय अभिषेक अवस्थी अपने साथी आकाश मिश्र के साथ बुलेट से घर लौट रहे थे। रास्ते में मानपुर थाना क्षेत्र के पास परसेहरा गांव के पास किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी।

सीतापुर। जिला मुख्यालय से घर लौट रहे भारतीय जनता युवा मोर्चा के बिसवां नगर उपाध्यक्ष व उनके साथी की मार्ग दुर्घटना में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि सोमवार देर शाम को बिसवां नगर उपाध्यक्ष 24 वर्षीय अभिषेक अवस्थी अपने साथी आकाश मिश्र दोनों बुलेट से घर लौट रहे थे। रास्ते में मानपुर थाना क्षेत्र के पास परसेहरा गांव के पास किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी इस हादसे में दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। खबर मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को बिसवां सीएचसी लाकर भर्ती कराया, जहां प्रारंभिक उपचार के दौरान ही डॉक्टरों ने दोनों ही भाजपा नेताओं को मृत घोषित कर दिया है। अभिषेक अवस्थी आकाश मिश्र के बड़े भाई अनुपम मिश्र का सगा साला है।

मृतक आकाश मिश्र पुत्र रामनरेश मिश्र और मृतक अभिषेक अवस्थी पुत्र योगेंद्र अवस्थी बिसवां कस्बे के कैथी टोला निवासी हैं। अनहोनी की खबर पाकर दोनों परिवारों पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा। दोनों परिवारों के सदस्य दहाड़ मार कर रो रहे हैं। उधर खबर पाकर बिसवां ब्लाक प्रमुख राकेश वर्मा दोनों युवकों के शव के पोस्टमार्टम के लिए जिले पर रवाना हो गए हैं।

दो भाइयों में बड़ा था अभिषेक

मृतक अभिषेक अवस्थी भाजयुमो में नगर उपाध्यक्ष के पद पर रहते हुए संगठन में सक्रिय भूमिका निभा रहा था। अभिषेक अपने दो भाइयों में बड़ा था। उसके दो बड़ी बहने हैं। अभिषेक किया दोनों बहने आकाश मिश्रा के बड़े भाइयों के साथ ब्याही हैं। इनमें मृतक आकाश मिश्र के बड़े भाई अनुपम मिश्र व राहुल मिश्रा मृतक अभिषेक अवस्थी के सगे बहनोई हैं।

सुपर टेट का फॉर्म भरने जिले पर आए थे आकाश

मृतक आकाश मिश्र के बहनोई पिसावां निवासी रमा रमण मिश्र ने बताया, आकाश मिश्र अपने छह भाइयों में तीसरे नंबर का था। वह भाजपा में सक्रिय सदस्य के तौर पर कार्य करता था। साथ ही बीएड के बाद अब वह सुपर टेट की तैयारी में लगा था। सोमवार को वह अपने भाई के साले अभिषेक अवस्थी के साथ जिले पर सुपर टेट का फॉर्म भरने के लिए ही आया था। साले की मौत की खबर पाकर इटावा निवासी बहनोई रमा रमण मिश्र आकाश मिश्र के घर पहुंच चुके हैं। उन्होंने बताया कि आकाश मिश्र अपने आठ भाई बहनों में सबसे दुलारा था। सीता राम नरेश मिश्र खेती-बाड़ी करते हैं। पढ़ने में आकाश ही आगे निकल रहा था, इसलिए घरवालों को आकाश से बहुत उम्मीदें थी, पर हादसे में आकाश की मौत के बाद पूरे परिवार की उम्मीदें हवाई साबित हुई हैं।

WhatsApp chat