Breaking News देश राजनीती राज्य होम

Meerut Kisan Mahapnchayat: Delhi CM अरविंद केजरीवाल बोले- अंग्रेजों से ज्‍यादा किसानों पर जुल्‍म कर रही सरकार

Meerut Kisan Mahapnchayat दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को मेरठ में महापंचायत को संबोधित करते हुए सरकार पर जमकर हमला बोला। अपने पूरे भाषण में वह केंद्र सरकार और उत्‍तर प्रदेश की सरकार पर निशाना साधते रहे।

मेरठ। Meerut Kisan Mahapnchayat: आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रविवार को मेरठ में महापंचायत को संबोधित करते हुए सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्‍होंने अपने पूरे भाषण में केंद्र सरकार और उत्‍तर प्रदेश की सरकार पर निशाना साधते रहे। उन्‍होंन उत्‍तर प्रदेश की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्‍य की सरकार किसानों का बकाया इसलिए नहीं चुका रही है क्‍योंकि इनका मील मालिकों से यारी चल रही है। वहीं केंद्र सरकार पर बरसते हुए कहा कि सरकार किसानों पर अंग्रेजों से ज्‍यादा जुल्‍म कर रही है।

अंग्रजों से ज्‍यादा जुल्‍म कर रही सरकार: दिल्‍ली के सीएम ने कहा कि दिल्‍ली बार्डर पर बैरियर लगाए गए हैं। मोटी- मोटी किले लगाई गई हैं। किसान तीन महीनों से सड़क पर ठंड और गर्मी में बैठकर कानूनों को वापस लेने का विरोध कर रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कि तीन महीने के अंदर 250 लोग शहीद हो चुके हैं, लेकिन सरकार के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही। उन्‍होंने कहा कि सरकार किसानों को देशद्रोही बता रही है। जबकि उनके ही परिवार के भाई बार्डर पर जाकर देश की रक्षा कर रहे हैं। इस सरकार को किसानों के बारे में कोई चिंता नहीं है। यह सरकार केवल अपना हित देख रही है।

70 सालों से किसानों को सरकारों ने ठगा : सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 70 साल में सभी पार्टी की सरकारों ने किसानों को धोखा दिया है। कहा कि किसान बस फसल का सही दाम मांग रहा है, लेकिन सरकारें कितनी आईं और गई किसी ने भी किसानों की बात नहीं सुनी। कहा कि भाजपा ने चुनाव जीतने के बाद कहा था कि जल्‍द ही किसानों का दाम दोगुना हो जाएगा। लेकिन सरकार बनने के बाद से भाजपा ने सुप्रीम कोर्ट में लिखकर दिया कि हम एमएसपी नहीं देंगे।

दिल्‍ली की घटना केंद्र सरकार की साजिश : अरविंद केजरीवाल ने कहा कि किसानों के उपर लाठियां बरसाईं गई। यह केंद्र सरकार का ही प्‍लान था। भाजपा के समर्थक ही दिल्‍ली की घटना में शामिल थे। केंद्र सरकार का प्‍लान था कि किसानों रुट डायवर्ट कराकर दिल्‍ली में भेजा जाए। ताकि इनपर मुकदमा कर आंदोलन समाप्‍त किया जा सके और हिंसा होते ही किसानों को बदनाम किया। उन्‍होंने कहा कि उस समय अगर किसानों को स्‍टेडियम जाने देते तो ये सभी को जेल में डाल देते। इस कारण हमने किसानों को रोका।

पार्टी के कार्यकर्ता कर रहे किसानों की सेवा: अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मेरे पार्टी के कार्यकर्ता और विधायक बार्डर पर बैठे किसानों की सेवा कर रहे हैं। उनकी सभी जरुरतों को आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता पूरा कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि 28 जनवरी की रात जो हमने कुछ देखा वे बड़ा ही दुखद था।

राकेश टिकैत के आंसू देख मन दुखित हुआ : केजरीवाल ने कहा कि राकेश टिकैत किसानों के लिए बार्डर पर अपना शरीर ताप रहे है, लेकिन सरकार ने जो किया उस कारण उनकी आंखों में आंसू आ गए। सरकार धरना समाप्‍त कराना चाहती थी। इस कारण राकेश टिकैत के आंसू निकल आए। उन्‍होंने कहा कि संजय सिंह ने जब राकेश टिकैत से बात कराई तो मैंने कहा हम आपके साथ हैं। इसके बाद परेशानी पूछकर किसानों के लिए राशन और पानी का इंतजाम कराया।

WhatsApp chat