Breaking News देश राज्य होम

छत्तीसगढ़ : पाली: विवादित विनायक अस्पताल के खिलाफ जिला कलेक्टर के निर्देश पर CMHO की बड़ी कार्रवाई

पाली: विवादित विनायक अस्पताल के खिलाफ जिला कलेक्टर के निर्देश पर CMHO की बड़ी कार्रवाई.. कोविड उपचार की अनुमति खारिज.. 15 दिनों के लिए किया सील.. स्टाफ नही कर रहा था सुरक्षा मापदण्डो का पालन..

छत्तीसगढ़ से अर्जुन प्रसाद गुप्ता 

कोरबा/पाली: जिले के भीतर एक दर्जन से ज्यादा निजी और शासकीय अस्पतालों में कोविड सम्बन्धी इलाज किये जा रहे है. इनमे से कई अस्पताल औद्योगिक इकाइयों के भी है जहां कोरोना मरीजो का उपचार किया जा रहा है. यह सभी अस्पताल कोरबा निगम मुख्यालय अंतर्गत संचालित है. जिले के ग्रामीण इलाकों में कोरोना से त्वरित इलाज के लिए पाली के एक निजी अस्पताल को भी शासकीय नियमो के तहत पिछले महीने कोविड ट्रीटमेंट सुविधा की अनुमति प्रदान की गई थी. इस अनुमति को कल जिला कलेक्टर ने खारिज कर दिया. इतना ही नही बल्कि अस्पताल स्टाफ के द्वारा सुरक्षा को लेकर बरती जा रही लापरवाही के मद्देनजर अस्पताल को पखवाड़े भर के लिए सील भी कर दिया गया है.
दरअसल कोरोना उन्मूलन के सम्बंध में लगातार मिल रही शिकायतों के बाद जिला कलेक्टर किरण कौशल कल पाली नगर के दौरे पर थी. यहां उन्होंने कोरोना से जुड़े कामकाज, इलाज व मरीजो के बारे में अफसरों से जानकारी ली. कलेक्टर ने एक हॉस्टल अधीक्षक को भी निलंबित कर दिया है. जिलाधीश के औचक निरीक्षण और कार्रवाई के बाद जिले भर में हड़कंप मचा हुआ है. सभी निजी-शासकीय स्वास्थ्य संस्थान अपनी व्यवस्थाएं सुधारने में जुटे हुए है |