देशब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिराज्य

गुरुग्राम : बादशाहपुर की जनता ने ताकत दी तो विकास की कोई कमी नहीं रहेगी : राव नरबीर सिंह

रिपोर्टर इंडिया नाउ 24 सुरेंद्र गुरुग्राम

बादशाहपुर की जनता ने ताकत दी तो विकास की कोई कमी नहीं रहेगी : राव नरबीर सिंह

पिछली सरकार में 24 घण्टे भी नहीं रुकती थी मेरे काम की फाइल

गुरुग्राम। हिसार, सिरसा व रोहतक लोकसभा के कलस्टर प्रभारी तथा वरिष्ठ भाजपा नेता पूर्व मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि बादशाहपुर के लोगों ने उनको ताकत दी तो निश्चित तौर पर अपने पिछले कार्यकाल से भी अधिक ताकत के साथ इस बार वह प्रदेश में सबसे ज्यादा विकास इसी हलके में कराने का काम करेंगे। पिछली सरकार में जब वह मंत्री थे तो 24 घंटे भी उनके कामों की फाइल रोकी नहीं जाती थी। पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सभी अधिकारियों को उनके कार्य प्राथमिकता के आधार पर करने के लिए आदेश दिए हुए थे।

राव नरबीर सिंह शुक्रवार को बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र के गांव बामडोली तथा बासखुसला में आयोजित जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे। दोनों गांवों में राव नरबीर सिंह का बड़ी फूलमालाओं, पगड़ी व स्मृति चिह्न के साथ भव्य स्वागत किया गया।

जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि उनके पिता स्वर्गीय राव महावीर सिंह के पश्चात गुरुग्राम क्षेत्र में उनके अलावा कोई भी कैबिनेट मंत्री नहीं बन पाया है। वर्ष 1996 और 2014 में चुनाव जीतने के बाद उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया, यह ताकत आप लोगों से ही मिली। लोक निर्माण मंत्री बनते ही अपनी पहली कलम से उन्होंने गांव की सडक़ों को 18 फीट चौड़ी करने का कानून पास किया था। इसके अलावा हरियाणा में तीन पट्टी की सडक़ भी उन्होंने ही बनवाई थी। राव नरबीर सिंह ने कहा कि गुडग़ांव में यूनिवर्सिटी लाने के लिए उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सामने जमकर पैरवी की थी। उसी का यह परिणाम रहा की आज काकरोला में हमारे पास यूनिवर्सिटी है और खेडक़ी माजरा में मेडिकल कॉलेज बन पाया है। उन्होंने कहा कि बादशाहपुर एलिवेटेड रोड का निर्माण होने के बाद अब राजीव चौक से सोहना तक महज 17 मिनट में पहुंचा जा सकता है। उन्होंने द्वारका एक्सप्रेस-वे बनने के पीछे की कहानी भी मौजूद लोगों के समक्ष रखते हुए बताया कि यह एचएसवीपी की एक संकरी सडक़ थी।

उन्होंने भारत सरकार में मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात करके द्वारका एक्सप्रेस-वे का प्रस्ताव तैयार कराया था। करीब 10 हजार करोड़ से यह एक्सप्रेस वे बन पाया है। उन्होंने कहा कि 2019 में किसी कारणवश उनको टिकट नहीं मिल पाई। जिसके चलते क्षेत्र का उतना विकास नहीं हो पाया, जितना होना चाहिए था, लेकिन इस बार वह निश्चित तौर पर चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने विश्वासपूर्वक कहा कि भारतीय जनता पार्टी को उनसे बेहतर उम्मीदवार मिल ही नहीं सकता। उन्होंने कहा कि जिस तरह से बादशाहपुर की जनता आज उनके साथ खड़ी है, इस तरह से चुनाव में भी साथ खड़ी रहे। यही आशीर्वाद लेने के लिए वह उनके बीच आए हैं।

इस अवसर पर निगम पार्षद राकेश यादव, निगम पार्षद ब्रह्म यादव, निगम पार्षद धर्मवीर सिंह, निगम पार्षद लीलू यादव, निगम पार्षद कुलदीप कुमार, शेरू सरपंच, मास्टर साधुराम, लखन सरपंच, देवेंद्र शिकोहपुर, नरेश यादव, सुरेंद्र, साधुराम सरपंच, सुभाष सरपंच, पहलाद सिंह, गजराज सिंह, रामकुमार सरपंच, प्रेम कुमार, शिव कुमार, किशोर, अनिल, शम्मी कुमार, लखीराम, देव कुमार, रामकिशन, राकेश, रामपाल, मनोज, राजबीर नंबरदार सहित अन्य ग्रामीण मौजूद रहे। गांव बास कुशला में अजीत सरपंच, डा. राजकुमार, जीतू प्रधान, मुकेश प्रधान, मैनपाल, शेर सिंह सरपंच, सतीश सरपंच, सुरेंद्र सरपंच, महावीर चेयरमैन, कैलाश सरपंच आदि ने पूर्व मंत्री का जोरदार स्वागत किया।

बॉक्स:

समूचे इलाके ने उठाया टिकट न मिलने का खामियाजा

गुरुग्राम। राव नरबीर सिंह जिन भी गांव में पहुंचे वहां लोगों ने मंच से कहा कि 2019 में उनको टिकट न मिलने का खामियाजा समूचे क्षेत्र को उठाना पड़ा। उन्हें टिकट न मिलने से समूचे इलाके को नुकसान उठाना पड़ा। पिछले 5 सालों में विकास का एक भी काम बादशाहपुर हल्के में नहीं हुआ क्योंकि हमारे पास राव नरबीर सिंह जैसा मजबूत वजीर नहीं था।

Himanshu Chaubey

Related Articles

Back to top button