Breaking News देश राज्य होम

सीएम फ्लाईंग का गुरुग्राम के एचएसवीपी दफ्तर में छापा, गैर हाजिर मिले 86 कर्मचारी
-129 में से मात्र 43 कर्मचारी ही समय पर पहुंचे दफ्तर
-लापरवाही कर्मचारियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई
-इससे पूर्व परिवहन विभाग में भी सीएम फ्लाईंग ने की थी छापेमारी

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम। मिलेनियम सिटी गुरुग्राम में बुधवार को हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) विभाग में सीएम फ्लाईंग ने छापा मारा। छापेमारी में विभाग के कुल 129 कर्मचारियों में से 43 कर्मचारी और अधिकारी गैर हाजिर व देरी से पहुंचे। मतलब 86 कर्मचारी समय से दफ्तर पहुंचे ही नहीं। टीम ऐसे लापरवाह कर्मचारियों की सूची तैयार कर रही है।
बुधवार की सुबह 9 बजे ही सीएम फ्लाईंग एचएसवीपी कार्यालय पहुंच गई थी। इसकी किसी को कानों-कान भनक नहीं लगी। बेहद ही सधे पांवों से टीम ने कार्यालय में प्रवेश किया और बारी-बारी से सभी कार्यालयों में भी जाकर देखा कि किसमें कितने कर्मचारी समय पर पहुंचे हैं। इस दौरान टीम की ओर से मौजूद कर्मचारियों से सभी कर्मचारियों का रजिस्टर मंगवाया गया। हाजिर कर्मचारियों, अधिकारियों को छोड़कर गैर हाजिर कर्मचारियों का डाटा अलग से निकाला। कुल 129 के स्टाफ में से मात्र 43 का ही समय पर पहुंचना बहुत बड़ी लापरवाही मानी गयी। क्योंकि पब्लिक डीलिंग के मामले में एचएसवीपी विभाग काफी महत्वपूर्ण हैं। रोजाना यहां हजारों लोगों की आवागमन होता है। विभाग में भ्रष्टाचार की भी खूब शिकायतें मिलती हैं। ऐसे में सीएम फ्लाईंग की छापेमारी से एचएसवीपी में हड़कंप मचना लाजिमी था।
सीएम फ्लाईंग में शामिल डीएसपी जितेंद्र गहलावत के मुताबिक गैर हाजिर और देरी से आने वाले सभी कर्मचारियों की नाम, पद नाम के साथ सूची तैयार की है। अब यह रिपोर्ट मुख्यमंत्री मनोहर लाल को सौंपी जायेगी। उसके बाद सीएम के आदेशों पर आगे की कार्रवाई की जायेगी।
सीएम के सुशासन पाठ का नहीं हो रहा असर
हरियाणा सरकार द्वारा बीते वर्ष 25 दिसम्बर को गुरुग्राम में सुशासन दिवस मनाया गया था। इसमें खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश के हित के लिए कर्मचारियों, अधिकारियों को समय पर कार्यालय पहुंचने, जिम्मेदारी के साथ लोगों के काम करने समेत कई पहलुओं पर घंटों पाठ पढ़ाया था। शायद डेढ़ महीने में ही यहां के कर्मचारी, अधिकारी सुशासन दिवस के उस पाठ को भूल चुके हैं। यह हाल तो तब है जब कुछ दिन पहले गुरुग्राम समेत पूरे हरियाणा के परिवहन विभाग में सीएम फ्लाईंग ने छापेमारी की थी। इसके बाद तो सब शांत बैठ गये थे कि अब क्या होना है। लेकिन भविष्य में भी ऐसा बार-बार होगा, यह कर्मचारियों, अधिकारियों को याद रखना चाहिये।