Breaking Newsदेशबिज़नेसराज्यहोम

गोरखपुर : 35 लीटर के वैगनआर टैंक में भरा 43.09 लीटर पेट्रोल:CDO और जिला पूर्ति अधिकारी से शिकायत के बाद भी समाधान नहीं, अब करेंगे केस

गोरखपुर…35 लीटर के वैगनआर टैंक में भरा 43.09 लीटर पेट्रोल:CDO और जिला पूर्ति अधिकारी से शिकायत के बाद भी समाधान नहीं, अब करेंगे केस

तपन बोस
इंडिया नाऊ 24
गोरखपुर

कार संचालक अब उपभोक्ता फोरम जाने की तैयार कर रहा है।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां इंडियन ऑयल के पेट्रोल पंप मेसर्स राम विलास फ्यूल मार्ट ने है एक ग्राहक के वैगनार कार के निर्धारित 35 लीटर के टैंक में 43.09 लीटर पेट्रोल भर दिया। फिलहाल इस मामले की शिकायत के बाद जिला पूर्ति अधिकारी एवं बाट-माप विभाग ने पंप पर पहुंच कर जांच की लेकिन कोई प्रमाण हाथ नहीं लगा। कार संचालक अब उपभोक्ता फोरम जाने की तैयार कर रहा है।

परियोजना प्रबंधक के साथ हुआ मामला

जिला पंचायत राज अधिकारी गोरखपुर में जिला परियोजना प्रबंधक के पद पर कार्यरत रविकांत दूबे सोमवार को सिंघड़िया स्थित अपने निवास से मारुति वैगन आर यूपी -57 एई- 1110 से विकास भवन के लिए निकले। विकास भवन कार्यालय आते समय महादेव झारखण्डी स्थित मेसर्स राम विलास फ्यूल मार्ट पर उन्होंने पेट्रोल टैंक फुल करने के लिए पंप आपरेटर को निर्देशित किया। दूबे ने बताया कि पंप आपरेटर ने सिर्फ 300 रुपये का तेल डाला जिस पर उन्होंने उसे कहा कि टैंक फुल कर दो।

उसने 29 लीटर पेट्रोल और डाल दिया, उसके बाद एक ट्रक में तेल डालने लगने लगा। इस बीच रविकांत ने गाड़ी स्टार्ट किया तो मीटर कम दिखा रहा था। रविकांत ने फिर कहा कि टैंक फुल नहीं हुआ है, आपरेटर ने एक बार फिर 200 रुपये, फिर 550 रुपये और फिर 200 रुपये का तेल डाला।

नहीं हुई सुनवाई

इस तरह 3.09 लीटर पेट्रोल डाल दिया तो रविकांत का माथा ठनका, उन्होंने आपत्ति दर्ज कराई कि जब कुल क्षमता 35 लीटर है फिर इतना तेल कैसे आ सकता है? उनकी आपत्ति पर मेसर्स ने सुनवाई नहीं की तो उन्होंने घटतौली का आरोप लगाते हुए मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह एवं जिला पूर्ति अधिकारी रामेंद्र कुमार सिंह को शिकायत की।

जिला पूर्ति अधिकारी ने बाट माप के अधिकारी के साथ पंप की जांच भी की लेकिन शिकायतकर्ता को कोई समाधान नहीं मिला है। उनका कहना है कि वे इस मामले को लेकर उपभोक्ता फोरम जाएंगे।

Related Articles

Back to top button