Breaking News देश राज्य होम

सरकार की वादाखिलाफी और जन सेवाओं एवं रोजगार को बचाने को लेकर नागरिक सम्मेलन का आयोजन किया

सरकार की वादाखिलाफी और जन सेवाओं एवं रोजगार को बचाने को लेकर नागरिक सम्मेलन का आयोजन किया

 रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने सरकार की वादाखिलाफी और जन सेवाओं एवं रोजगार को बचाने को लेकर कमला नेहरू पार्क में नागरिक सम्मेलन का आयोजन किया। जिला प्रधान उमेश खटाना की अध्यक्षता में आयोजित इस सम्मेलन में संघ व विभिन्न विभागीय संगठनों के पदाधिकारियों के अलावा ट्रेड यूनियनों, किसानों और आम नागरिकों ने हिस्सा लिया। जिला सचिव रामनिवास ठाकरान द्वारा संचालित इस सम्मेलन में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा, उप प्रधान सुरेश नौहरा, सीटू के उप प्रधान ‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌श्रीपाल सिंह भाटी, अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति की प्रधान ऊषा सरोहा, रिटायर्ड कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला प्रधान जय सिंह पूनिया, मैकेनिकल वर्कर यूनियन के महासचिव कवंर लाल यादव व बिजली कर्मचारियों के नेता रामबीर शर्मा उपस्थित थे। नागरिक सम्मेलन में प्रस्ताव पारित कर भाजपा से 2014 के धोषणा पत्र में कर्मचारियों से किए वादों को पूरा न करने, रोड़वेज, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य,जन स्वास्थ्य आदि विभागों में निजीकरण की नीतियों को तेजी से लागू करने और वर्कलोड के अनुसार रिक्त पदों को स्थाई भर्ती से भर कर दो लाख नौकरियां हर साल देने के वादे को पूरा न करने का जबाव मांगा गया। नागरिक सम्मेलन में सभी विपक्षी दलों से इन मुद्दों पर अपने दल का रुख स्पष्ट करने की भी मांग की गई। इसी कड़ी में 7 अक्टूबर को हथीन में नागरिक सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। निमंत्रण देने के बावजूद भाजपा प्रत्याशी के नागरिक सम्मेलन में न आने पर कड़ी नाराजगी जाहिर की। सम्मेलन में भाजपा द्वारा 2014 में जारी धोषणा पत्र में कर्मचारियों से किए वादों पर अमल न करने और कर्मचारियों की नीतिगत मांगों का समाधान न करने की घोर निन्दा की गई।

नागरिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष  सुभाष लाम्बा ने जनता से विधानसभा चुनावों में भावनात्मक मुद्दों की बजाए  अपनी जिंदगी से जुड़े  रोजी-रोटी जैसे असल सवालों पर सभी राजनीतिक दलो व उनके उम्मीदवारों से स्टेण्ड स्पष्ट करने की मांग करने की अपील की उन्होंने कहा कि आज कल वोट लेने के लिए राजनीतिक पार्टियां दानवीर बनते हुए कोई स्कूटी देने की बात करता है तो कोई लेपटॉप, कोई पेंशन तो कोई वाई फाई देने का लालच दे रही है। राजनीति दल ऐसा बर्ताव कर रहे है कि जैसे यह राजा है और जनता को भीख दे रहे है। जबकि सच्चाई यह है कि देश – प्रदेश में जितनी भी धन दौलत है, वह जनता ने  ही अपनी मेहनत से पैदा की है। उस पर जनता का ही हक है। शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन,जन स्वास्थ्य, आवास व रोजगार जनता का संवैधानिक अधिकार है। लेकिन चुनाव में  इसकी बात करने की बजाए देश हित व राष्ट्र हित की बात की जा रही है। वास्तव में जनता का हित ही देश हित है। यदि देश की जनता भूखी मर रही है, किसान आत्महत्याएं कर रहे है ओर जनता बिना इलाज के लिए तड़फ रही है तो देश हित का नारा जनता के साथ एक बहुत बड़ा धोखा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जनसंख्या के हिसाब से 10 लाख पक्के कर्मचारी होने चाहिए। लेकिन मुश्किल से ढाई लाख पक्के व एक लाख से ज्यादा कच्चे कर्मचारी है। आधे से ज्यादा पद खाली पड़े है। कच्चे कर्मियों का भरपूर आर्थिक शोषण हो रहा है। सरकार का हर साल 2 लाख रोजगार देने का वायदा भी खोखला साबित हुआ है।नागरिक सम्मेलन में रामबीर शर्मा, रामसिंह, अरविंद, सुशील शर्मा,मान सिंह शर्मा, जनवादी महिला समिति की जिला प्रधान भारती आदि उपस्थित थे।