Breaking News देश राज्य होम

सदर बाजार में शुरू किया जूट और कपड़े के थैले का केयोस्क3

सदर बाजार में शुरू किया जूट और कपड़े के थैले का केयोस्क

 
– निगमायुक्त अमित खत्री ने किया  केयोस्क का शुभारंभ
 
– निगमायुक्त ने स्वयं सहायता समूहों की 5 महिलाओं को भेंट किये आयुष्मान भारत योजना के कार्ड
रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24
 
गुरुग्राम, । नगर निगम गुरुग्राम द्वारा पॉलीथीन को बंद करने के उद्देश्य से स्थानीय सदर बाजार में डाकघर चौक पर कपड़े और जूट के थैले का केयोस्क स्थापित किया है। इसका शुभारंभ बुधवार की निगमायुक्त अमित खत्री द्वारा किया गया। यह केयोस्क स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा चलाया जाएगा। यहां पर 8 रुपए से 15 रुपये तक में कपड़े का तथा 35 रुपये से 75 रुपए तक के मूल्य के जूट बैग उपलब्ध हैं।
नगर निगम गुरुग्राम द्वारा 6 स्वयं सहायता समूहों को कपड़े के थैले बनाने का प्रशिक्षण दिलवाया गया था, जिनमें से 4 समूह कपड़े और जूट के थैले बनाने का कार्य कर रहे हैं। इनमें जय अंजनी, ए डब्ल्यू एस बालाजी, कालकाजी और श्री गणेश स्वयं सहायता समूह शामिल हैं। इन स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा गुरुग्राम में लगभग 1 लाख 70 हजार से अधिक थैलों की बिक्री की जा चुकी है। सदर बाजार मार्किट में पहुँचने पर निगमायुक्त का स्वागत प्रधान बबलू गुप्ता ने स्वागत किया तथा इस प्रकार की पहल को सराहनीय कदम बताया।
इस मौके पर निगमायुक्त ने कहा कि कपड़े और जूट के थैले के प्रयोग से ना केवल पर्यावरण को दूषित होने से बचाया जा सकता है, बल्कि गरीब परिवारों की महिलाओं को भी स्वरोजगार मिलता है। उन्होंने कहा कि नगर निगम द्वारा पॉलीथीन को बंद करने हेतु विशेष टीमें बनाई गई हैं तथा सरकार द्वारा पॉलीथीन को प्रतिबंधित करने उपरांत और भी सख्ती बरती जा रही है। दूसरी और विकल्प के तौर पर महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाये गए थैलों की बिक्री हेतू प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस प्रकार के केयोस्क सदर बाजार मस्जिद के पास, सेक्टर-46, 56, 14, 23 व अन्य सेक्टरों में भी खोले जाएंगे।
इस अवसर पर निगमायुक्त ने स्वयं सहायता समूहों की 5 महिलाओं को आयुष्मान भारत योजना के कार्ड भी भेंट किये। उन्होंने बताया कि उन सभी महिलाओं को योजना का लाभ दिलवाया जाएगा, जो स्वयं सहायता समूहों की सदस्य हैं।
इस मौके पर निगमायुक्त अमित खत्री के साथ सयुंक्त निगमायुक्त गौरव अंतिल एवं इंद्रजीत कुल्हड़िया, सिटी प्रोजेक्ट ऑफिसर महेंद्र सिंह, कार्यकारी अभियंता अमित सांडिल्य, सहायक अभियंता अमित कुमार, वरिष्ठ सफाई निरीक्षक अम्बिका प्रसाद एवं ऋषि मालिक मौजूद थे।