देश राज्य होम

दिव्यांग आशा देवी पति की मृत्यु के बाद से मकान की छत के लिये अधिकारियो के कार्यालयो के लगा रहे चक्कर

दिव्यांग आशा देवी पति की मृत्यु के बाद से मकान की छत के लिये अधिकारियो के कार्यालयो के लगा रहे चक्कर

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

दिव्यांग आशा देवी आज उपायुक्त  रेवाड़ी से मुलाकत करने पहुची जिस पर उपायुक्त महोदय नही मीले तो  कैलाश चंद एड्वोकेट की सहायता से ctm रेवाड़ी से मुलाकात की दिव्यांग आशा देवी ने बताया कि इसी वर्ष जनवरी में उनके पति पप्पू सिंह जो कि दिव्यांग थे, की म्रत्यु सर्दी के कारण हो गई थी, परिवार के पास इनकम का कोई साधन नही नाबालिक बच्चे अपनी पढ़ाई के साथ साथ गांव के खेतों में मजदूरी करते तब जाकर कहि परिवार का खाने पिने का प्रबंध हो पाता है, परिवार के पास रहने को मकान नही इसलिये सरकार ने गांव से दूर खेतो में रहने को 100 गज का प्लाट दिया और उस पर मकान के रूप में 1 कमरे की चारदिवार खड़ी कर दी परन्तु आज तक छत नही डल पाई सरकार में आज तक छत बनाने की क़िस्त जारी नही की जिस कारण पप्पू सिंह के परिवार ने छत न होने के कारण कमरे की चार दिवारी पर छत के रूप में एक पॉलीथिन ढक ली ताकि परिवार को सर्दी के प्रकोप से बचाया जा सके परन्तु दुख की बात की दिव्यांग पप्पू सिंह खुद को नही बचा पाया, सर्दी के कारण म्रत्यु हो गई, जिस पर इस दुख की घड़ी में प्रसासनिक अधिकारियो ने पहुच कर परिवार को सांत्वना तो दी मगर आजतक कोई सहायता नही की, यहां तक कि दिव्यांग विधवा आशा देवी और बच्चो की पेंशन तक नही बनी, जो कि कैलाश चंद एड्वोकेट ने भागदौड़ करके पेँशन बनवाई, जिस पर आज आशा देवी मकान की छत के लिये फिर ctm से मिली क्योकि आशा देवी को डर सता रहा है कि अब फिर सर्दी का मौसम आने वाला है और जैसे उनके पति की म्रत्यु मकान पर छत के अभाव में सर्दी के कारण हुई ऐसी घटना परिवार के साथ कहि दोबारा न हो जाये इसलिये आज उपायुक्त रेवाड़ी के सामने सहायता हेतु गुहार लगाने पहुची, जिसमें कैलाश चंद एड्वोकेट उपायुक्त से इस बारे बात भी करेंगे क्योंकि घटना के बाद कई बार कैलाश चंद अधिवक्ता ने सरकार को पत्र लिखा है पर कोई सहायता नही हुई