Breaking News देश राजनीती राज्य होम

मीरजापुर – यमुना में आ रहा 16 लाख क्यूसेक अतिरिक्त पानी

अतुल कुमार सिंह
ब्यूरो चीफ मीरजापुर
इण्डिया नाऊ 24

यमुना में आ रहा 16 लाख क्यूसेक अतिरिक्त पानी

पहले केन और अब चंबल मीरजापुर वालों के लिए परेशानी का सबब बन गई हैं। चंबल से छोड़ा गया 16 लाख क्यूसेक पानी अगले तीन दिनों में यमुना में पहुंच जाएगा। पानी के आते ही पहले से बाढ़ की स्थिति झेल रहे जिले वासियों को भयावह स्थिति से जूझना होगा। माना जा रहा है कि जलस्तर 87 मीटर तो पहुंचेगा ही और अगर दो दिनों में जलस्तर कम न हुआ तो रिकार्ड भी टूट सकते हैं। हालांकि सोमवार को जलस्तर बढ़ने की रफ्तार रविवार की तुलना में कम हुई। यह बात प्रशासन के लिए राहत देने वाली थी। सोमवार को जलस्तर एक सेंटीमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से बढ़ा। ऐसे में अभी भी खतरे के निशान से नदियां पीछे हैं। जलस्तर बढ़ने की रफ्तार यही रहने पर मंगलवार शाम तक नदियां लाल निशान को पार करेंगी। प्रशासन के लिए टोंस व चंबल इस वक्त परेशानी का कारण बनी है। टोंस नदी में पिछले चार दिनों में लगभग छह मीटर जलस्तर बढ़ गया है। टोंस खाली न होने के कारण गंगा और यमुना का पानी आगे नहीं निकल रहा है। अगर दो दिनों में टोंस से कुछ पानी न निकला तो चंबल से छोड़ा गया 16 लाख क्यूसेक पानी यमुना में 19 सितंबर की रात तक पहुंच जाएगा। जलस्तर 87 मीटर जाने की आशंका है। यह जलस्तर 2013 की बाढ़ 86.82 मीटर से अधिक होगा। ऐसे में इस बार की बाढ़ और अधिक विकट होगी।