Breaking News देश राजनीती राज्य होम

लोकबंधु अस्पताल चौराहे पर मासूम के परिजनों ने शव रखकर किया प्रदर्शन

लोकबंधु अस्पताल चौराहे पर मासूम के परिजनों ने शव रखकर किया प्रदर्शन,

🗒 सोमवार, सितंबर 16 2019
🖋 प्रभंजन कुमार तिवारी, प्रधान संपादक

लोकबंधु अस्पताल चौराहे पर मासूम के परिजनों ने शव रखकर किया प्रदर्शन,
परिजनों ने अस्पताल प्रशासन के खिलाफ कार्यवाही करने व मुवावजे की
सूचना पाकर मौके पर पहुंचे एसडीएम तृतीय व क्षेत्राधिकारी , परिजनों को दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने व उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन
लोकबंधु अस्पताल में इलाज के दौरान मासूम की मौत का मामला,
कृष्णा नगर थाना इलाके स्थित लोकबंधु अस्पताल में शनिवार दोपहर इलाज के दौरान हुई मासूम की मौत से नाराज परिजनों ने
रविवार दोपहर लोकबंधु अस्पताल चौराहे पर मासूम के शव को रखकर सड़क जाम कर मुवावजे की मांग समेत चिकित्सकों के खिलाफ नारेबाजी कर कार्यवाही करने की मांग पर अडे रहे। और लोकबंधु मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे एसीएम वृतीय व क्षेत्राधिकारी कृष्णा नगर न ने पीएम रिपोर्ट आने के बाद दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने व उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया। वहीं लिखित रूप में मुवावजा देने व डाक्टरों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही करने पर अडे रहे। लेकिन ख़बर लि जाने तक कोई निष्कर्ष नहीं निकाला। वहीं कृष्णा नगर थाना प्रभारी अपने दल-बल संग मौके पर मौजूद रहे।
बताते चलें कि बीते शनिवार सुबह आशियाना थाना क्षेत्र के रायबरेली रोड शारदा नगर योजना के रजनी खंड मकान संख्या – 8/604 में रहने वाले रज्जन शुक्ला के पांच साल के मासूम मृतक बेटे रूद्राक्ष उर्फ सत्यम की मौत हो गई थी। वहीं रविवार दोपहर मृतक सत्यम के शव को लोकबंधु अस्पताल चौराहे पर शव रखकर मुवावजे की मांग को लेकर अस्पताल प्रशासन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही करने की मांग को लेकर अडे रहे। और लोकबंधु मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे एसीएम वृतीय सन्त कुमार व क्षेत्राधिकारी कृष्णा नगर अमित कुमार राय ने प्रदर्शन कर रहे मृतक के परिजनों को चिकित्सकों के खिलाफ कार्यवाही करने व उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया लेकिन मृतक के परिजन डाक्टरों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने व बीस लाख मुआवजा देने की मांग पर अडे रहे।
क्या था मामला
आशियाना थाना क्षेत्र में रहने वाले आटो चालक। मृतक मासूम रुद्राक्ष उर्फ सत्यम के पिता ने बताया कि बेटे की तबीयत उल्टी-दस्त होने की वजह से शुक्रवार रात लगभग 8 बजे खराब हो गई थी। वह अपने बच्चे को लेकर लोकबंधु अस्पताल की इमरजेन्शी पहुंचे , जहां चिकित्सकों ने जांच के बाद बच्चे को इंजेक्शन लगा बाहर से कुछ दवाइयां लिख कर घर वापस जाने की बात कह शनिवार सुबह ओपीडी में दिखाने की बात कह अस्पताल से वापस भेज दिया । रुद्राक्ष की तबियत में कोई सुधार न होता देख शनिवार सुबह परिजन बच्चे को लेकर लोकबंधु अस्पताल पहुंचे और ओपीडी के नौ नम्बर कमरे में डाक्टर को दिखाया जिसके बाद बच्चे को एक इंजेक्शन लगाया गया जिससे उसके मुंह से झाग निकलने लगा और थोड़ी ही देर बाद मासूम सत्यम की मौत हो गई थी।