Breaking News देश बिज़नेस राजनीती राज्य होम

सोनभद्र मे मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ बोले कांग्रेस की शहजादी उभ्भा में सिर्फ राजनीति कर रही हैं

सोनभद्र मे मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ बोले कांग्रेस की शहजादी उभ्भा में सिर्फ राजनीति कर रही हैं
पुनीत राय -क्राइम रिपोर्टर लखनऊ

नरसंहार की घटना के बाद अपने दूसरे दौरे में उभ्भा पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ितों को न्याय का आश्वासन देते हुए 340 करोड़ रुपये के कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास किया। उन्होंने जनपद के आदिवासी, वनवासी व भूमिहीन परिवारों को पट्टे की जमीन देने का आश्वासन दिया। इस दौरान उन्‍होंने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा को ‘शहजादी’ कहते हुए उभ्‍भा नरसंहार प्रकरण पर राजनीति करने का अारोप लगाया।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने एक घंटा 20 मिनट के दौरे में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 17 जुलाई की घटना दर्दनाक थी, जिसमें 10 लोगों की हत्या कर दी गई। उन्होंने इसे प्रदेश की सबसे निर्मम घटना कही। मुख्यमंत्री ने कांग्रेस, सपा और बसपा पर हमला बोला। कहा कि देश की आजादी के बाद से ही कांगेस ने आदिवासी व गरीबों के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया। 1952 से ही शोषण करती रही। लेकिन अब भाजपा सरकार ऐसा नहीं होने देगी। आदिवासी, वनवासी को उनका हक दिला के रहेगी। और इसी पर सरकार लगातार काम कर रही है। अपने संबोधन में कांग्रेस के पूर्व राज्यसभा सदस्य व पूर्व राज्यपाल (राजेश्वर) पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कृषि समिति बनाकर गरीबों की जमीन को हड़पने का काम किया है। यही कारण है कि गरीबों का विकास नहीं हुआ। वहीं कांग्रेस के महासचिव प्रियंका गांधी पर भी हमला बोला। बिना नाम लिए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की शहजादी उभ्भा में सिर्फ राजनीति कर रही हैं। उन्होंने सपा व बसपा काे भी गरीबों का शोषण करने वाली पार्टी बताया। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों को आश्वासन देते हुए कहा कि नरसंहार घटना की जांच एसआइटी कर रही है। इसकी रिपोर्ट आते ही आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने जनपद के आदिवासी, वनवासी व भूमिहीन परिवारों के लिए मंच से ही बड़ा आश्वासन दिया। कहा कि जनपद के हर आदिवासी, वनवासी व भूमिहीन परिवार को सीलिंग एक्ट के तहत पट्टे की जमीन दी जाएगी। गरीबों का सम्मान बरकरार रखा जाएगा। इसके लिए सरकार काम भी कर रही है। सरकार हर हाल में आदिवासी व गरीब परिवारों के चेहरे पर खुशहाली लाएगी।