Breaking News देश राजनीती राज्य होम

लखनऊ – प्रेस विज्ञप्ति वादाखिलाफी के विरोध में विद्युत मजदूर संगठन का धरना ।

प्रेस विज्ञप्ति वादाखिलाफी के विरोध में विद्युत मजदूर संगठन का धरना ।

लखनऊ – दिनांक 11 सितंबर 2019 विद्युत मजदूर संगठन उत्तर प्रदेश द्वारा प्रबंधक निदेशक मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड 4a गोखले मार्ग लखनऊ पर संगठन के मध्यांचल डिस्कॉम अध्यक्ष श्याम कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में आज एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया गया जिसमें मध्यांचल निगम के 19 जिलों से लगभग 300 कर्मचारी और संगठन के पदाधिकारी सम्मिलित हुए। धरना कार्यक्रम को संगठन के संयोजक आरएस राय के अतिरिक्त अरुण कुमार अध्यक्ष आर सी पाल कार्यवाहक अध्यक्ष आलोक सिंनहा मुख्य महामंत्री श्रीचंद महामंत्री और आर वाई शुक्ला उपाध्यक्ष नवीन चंद्र श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष एसके सिंह मध्यांचल महामंत्री पुनीत राय प्रदेश संयोजक संविदा मजदूर संगठन तथा गंगाधर त्रिपाठी जेपी त्रिपाठी राजीव अवस्थी शैलेंद्र कुमार कमल किशोर अभिषेक सिंह अजय भट्टाचार्य के के सिंह अवनीश श्रीवास्तव मनीष श्रीवास्तव राजीव श्रीवास्तव आदि पदाधिकारियों एवं विमल चंद्र पांडे मीडिया प्रभारी ने संबोधित किया। आर एस राय ने कहा कि मध्यांचल विद्युत निगम द्वारा स्थानांतरण नीति के विपरीत नियमों को ताक पर रखकर कर्मचारी विरोधी नीयत से लिपिकीए तथा tg2 संवर्ग के स्थानांतरण किए गए हैं जबकि स्थानांतरण नीति में स्पष्ट है कि ऐसे कर्मचारी जिनके माता-पिता आश्रित अथवा स्वयं गंभीर बीमारी से ग्रसित है उनका स्थानांतरण नहीं किया जाएगा जबकि लेसा में कार्यरत अजय भट्टाचार्य जिनके लिवर सिरोसिस बीमारी से गंभीर रूप से ग्रस्त माता जी का इलाज केजीएमसी में चल रहा है का स्थानांतरण कर दिया गया इसी प्रकार अवनीश श्रीवास्तव की पत्नी शिक्षा विभाग लखनऊ में दिलीप पांडे की पतनी शक्ति भवन लखनऊ में कायरत है को लखनऊ से बाहर स्थानांतरित कर दिया गया जिसके कारण इनके परिवार का उत्तपिडन हो रहा है। संगठन के मुख्य महामंत्री आलोक सिन्हा ने बताया कि आर एस राय के नेतृत्व में संगठन के एक प्रतिनिधिमंडल ने गत 28 अगस्त को प्रबंधक निदेशक संजय गोयल आईएएस से मिलकर स्थानांतरण के कारण कर्मचारियों को हो रही कठिनाई की ओर ध्यान आकर्षित कराया था जिस पर उन्होंने स्थानांतरण निरस्त करने पर विचार करने का आश्वासन दिया किंतु अभी तक कोई आदेश जारी नहीं किया गया। संगठन के महामंत्री श्री चंद ने कहा कि शासन द्वारा निर्धारित अंतिम तिथि 15 जुलाई के डेढ़ महीने बाद 26 अगस्त को स्थानांतरण करने का कोई औचित्य नहीं बनता किंतु मनमाने तरीके से मुख्य अभियंता संवर्ग के कार्यालय कर्मियों का स्थानांतरण कर दिया गया जो कर्मचारी विरोधी कार्रवाई है। संगठन के मीडिया प्रभारी विमल चंद्र पांडे ने बताया कि वादाखिलाफी के विरोध में किए जा रहे आज के धरना प्रदर्शन के बाद भी नियम विरुद्ध और शासन की नीतियों के खिलाफ किए गए स्थानांतरण रद्द नहीं किए गए तो स्थानांतरण के कारण कर्मचारियों और उनके परिवारों का हो रहा उत्पीड़न समाप्त कराने के लिए संगठन द्वारा मध्यांचल निगम पर आंदोलन जारी रहेगा जिसका संपूर्ण उत्तरदाइतव प्रबंधन का होगा।