देश राज्य होम

सिसर खास में हुई युवक की हत्या का मामला।

हरियाणा रोहतक ब्यूरो चीफ संजय पांचाल

वारदात में शामिल तीन आरोपी गिरफ्तार।

गत दिनों गांव सिसर खास में रात के समय हुए झगड़े में गोली लगने से एक युवक की मौत हो गई थी। रोहतक पुलिस ने गहनता से मामलें की जांच करते हुए वारदात को सफलतापूर्वक हल करते हुए वारदात में शामिल तीन आरोपियो को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। आरोपियों को आज पेश अदालत किया गया है। अदालत के आदेश पर आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर हासिल किया गया है। वारदात में शामिल अन्य आरोपियो को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है। मामलें की गहनता से जांच जारी है।

प्रभारी थाना महम निरीक्षक कमलदीप ने बताया कि गांव सिसर खास (रोहतक) निवासी सचिन उर्फ भोलू ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई जिसके आधार पर अभियोग संख्या 491/19 धारा 365,307 भा.द.स. व शस्त्र अधिनियम के तहत अंकित कर जांच शुरू कर दी। मामलें की जांच स.उप.नि. राकेश द्वारा गहनता से अमल में लाई गई। प्रारंभिक जांच में सामने आया कि दिनांक 03.09.19 को रात करीब साढ़े 9 बजे सचिन उर्फ भोलू व मोहन पुत्र जयसिंह निवासी सीसर खास खेतों से बस स्टैंड की तरफ जा रहे थे। रास्ते में गांव के बबलू पुत्र सोमबीर का फोन मोहन के पास आया जिसने मोहन को गांव के बस अड्डा पर बुलाया। सचिन उर्फ भोलू व मोहन गांव के बस अड्डा पर चले गए जहां पर बबलू व सुनील पुत्र सोमबीर पहले से मौजूद थे। उसके बाद गांव के रोहित पुत्र सुधीर, अमन पुत्र रणबीर व मोनू पुत्र राजबीर भी आ गए। सभी रात करीब एक बजे तक गांव के अड्डा पर बैठे रहे। उसके बाद मोहन की कार में सचिन, अमन, मोहन, रोहित व सुनिल सवार हो लिए तथा सुनिल को छोड़ने उसके घर की तरफ चल पड़े। कार के पीछे-2 बबलू मोटरसाईकिल पर सवार होकर आ गया। सुनिल को उसके घर के पास उतारा तो सचिन व सुनिल का झगड़ा हो गया। झगड़ा सुनकर बबलू के काका का लड़का नवीन पुत्र बेद सिंह व सुनिल उर्फ काला पुत्र सज्जन भी बाहर आ गए। नवीन, सुनील उर्फ काला, सुनिल व बबलू ने सचिन के साथ मारपीट करनी शुरू कर दी। मोहन, अमन व रोहित ने बीच-बचाव करके छुड़ाने का प्रयास किया। झगड़े के दौरान नवीन ने पिस्तोल से फॉयर कर दिया। जो गोली मोहन के जाकर लगी तथा सचिन छर्रे लगने से घायल हो गया। मोहन गोली लगने से वहीं गिर गया। सचिन, अमन व रोहित मौके से फरार हो गए। बबलू, नवीन, सुनील उर्फ काला, सुनील अपनी कार में मोहन को डालकर मौके से फरार हो गए।

मामलें की गंभीरता के साथ जांच करते हुए सामने आया कि दिनांक 04.09.19 को एक अज्ञात युवक की लाश भिवानी-दादरी रेलवे लाईन पर गांव मानहेरू के पास मिली। जिस संबंध में जीआरपी दादरी ने कार्यवाही करते हुए लाश का पोस्टमार्टम करवाया तथा पोस्टमार्टम के आधार पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ हत्या के तहत अभियोग संख्या 139/19 अंकित कर जांच शुरू कर दी। दिनांक 05.09.19 को मोहन के परजनों ने सिविल अस्पताल दादरी में शव की शिनाख्त मोहन के रूप में की है। पुलिस ने मोहन के शव को वारिसान के हवाले किया तथा मामलें में हत्या की धाराएं ईजाद की। दिनांक 08.09.19 को छापेमारी करते हुए वारदात में शामिल नवीन पुत्र वेद प्रकाश, सुनिल उर्फ काला पुत्र सज्जन व सुनिल पुत्र सोमबीर को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। आरोपियो से पुछताछ पर सामने आया कि आरोपियो का कुछ दिन पहले सचिन के साथ झगड़ा हुआ था। उसी बात की रंजिश रखते हुए नवीन ने पिस्तोल से सचिन पर फॉयर कर दिया। जो गोली मोहन को जाकर लगी तथा सचिन छर्रे लगने से घायल हो गया। सचिन अपने साथियो सहित मौके से फरार हो गया। आरोपी घायल अवस्था में मोहन को अपनी कार में उठाकर सिविल अस्पताल भिवानी लेकर गए। जहां डॉक्टरों ने मोहन को मृत बताया। मोहन के शव को उठाकर आरोपी अस्पताल से फरार हो गए। आरोपियों ने मोहन के शव को भिवानी-दादरी रेलवे लाईन पर गांव मानहेरू के पास डाल दिया तथा मौके से फरार हो गए।