Breaking News देश राजनीती राज्य होम

लखनऊ – विद्युत मजदूर संगठन उ0 प्र0 एवं विद्युत संविदा मजदूर संगठन उ0प्र0 की संयुक्त कार्यकारिणी की बैठक हमबरा अपार्टमेंट नरही, लखनऊ में संपन्न हुई !

प्रेस विज्ञप्ति

सेवा में
संपादक महोदय,

विद्युत मजदूर संगठन उ0 प्र0 एवं विद्युत संविदा मजदूर संगठन उ0प्र0 की संयुक्त कार्यकारिणी की बैठक आज दिनांक 08.09.2019 में हमबरा अपार्टमेंट नरही, लखनऊ में अरुण कुमार की अध्यक्षता में संपन्न हुई ! बैठक में भाजपा नेता शशि शर्मा (पूर्व विधायक) के अतिरिक्त शमीम अहमद, डी0पी0 मिश्रा, नवीन श्रीवास्तव, श्रीचंद, आर वाई शुक्ला, जलील जोलीलू रहमान, प्रवीण सिंह, मोहन बाबू आर्या, मोहम्मद शोएब, जितेंद्र सिंह राणा, निर्दोष कुमार, आशीष कुमार, इंद्रेश राय, पुनीत राय, गंगाधर त्रिपाठी, प्रताप सिंह, एस0के0 सिंह, विनोद श्रीवास्तव, महेश चंद्र शर्मा, राहुल कुमार, अजय शाही, विजय प्रकाश चौधरी, आदि पदाधिकारियों ने भाग लिया!
बैठक में मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लि0 ने शासन द्वारा निर्धारित तिथि 15 जुलाई को डेढ़ माह बाद भी 26 अगस्त में स्थानांतरण करके कर्मचारियों का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया गया! 11 सितंबर को मध्यांचल मुख्यालय 4ए, गोखले मार्ग लखनऊ पर विशाल धरने का निर्णय लिया गया है!
बैठक को संबोधित करते हुए संगठन के संयोजक आर0एस0 राय ने प्रबंध निदेशक संजय गोयल द्वारा संगठन के साथ हुई वार्ता में नवल किशोर पांडे, अवनीश कुमार श्रीवास्तव तथा ऐसे कर्मचारी जिनकी पत्नी विभाग में या दूसरे सरकारी विभाग में लखनऊ में कार्यरत हैं उनका स्थानांतरण लखनऊ के बाहर कर दिया गया को रोकने का आश्वासन दिया! साथ ही अजय भट्टाचार्य जिनकी वृद्ध मां लिवर सिरोसिस से ग्रसित है और मेडिकल कॉलेज लखनऊ से इलाज चल रहा है का स्थानांतरण रोकने का आश्वासन दिया ! श्री राय ने प्रबंध निदेशक श्री गोयल जी से स्थानांतरण तत्काल रोकने की मांग की उन्होंने tg2 को जू0 ई0 का टाइम स्केल दिए जाने की मांग करते हुए कहा कि प्रबंधन द्वारा tg2 और कार्यालय सहायक को 4200 ग्रेड पर की मांग को दरकिनार कर दिया गया जबकि इं0/ जू0ई0 संवर्ग को ग्रेड-पे में भारी बढ़ोतरी की गई ! श्री राय ने संविदा कर्मचारियों के शोषण का आरोप लगाते हुए कहा कि पावर कारपोरेशन के आदेशों के बाद भी संविदा कर्मचारियों का छ: छ: माह का वेतन अभी तक बाकी है और ठेकेदार द्वारा ई0पी0एफ0 का पैसा अभी तक जमा नहीं किया गया है उन्होंने चतुर श्रेणी और tg2 के रिक्त 30000 पदों पर संविदा कर्मचारियों को समायोजित करने की मांग भी की है!
संगठन के मुख्य महामंत्री आलोक सिन्हा ने ऊर्जा मंत्री और चेयरमैन यू0पी0पी0सी0एल0 से तत्काल हस्तक्षेप करके नियम/ शासन की नीतियों के विरुद्ध हो रहे स्थानांतरण को निरस्त करने की मांग की!
संगठन के मीडिया प्रभारी विमल चंद पांडे ने कहा कि 11 सितंबर के धरना प्रदर्शन के बाद भी अगर कर्मचारी विरोधी स्थानांतरण को नहीं रोका गया तो आगे और उग्र आंदोलन की चेतावनी दी ।