खेल देश राज्य होम

रोहतकः द्रोणाचार्य अवार्ड विजेता कोच रामबीर सिंह खोखर का हुआ सम्मान।

हरियाणा रोहतक ब्यूरो संजय पांचाल

रोहतक, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हाल ही में कबड्डी कोच रामबीर सिंह खोखर को द्रोणाचार्य अवार्ड से सम्मानित किया है। वे भारतीय कबड्डी टीम के पूर्व कोच भी रहे हैं। कबड्डी की कोचिंग में उनका 36 साल का अनुभव है। खोखर का रविवार को रोहतक के पैतृक गांव कंसाला में ग्राम पंचायत की ओर सम्मान किया गया। गांव की सीमा से मोटरसाइकिल के काफिले के साथ उन्हें समारोह स्थल तक लाया गया।

ग्रामीणों ने उनका जोरदार स्वागत किया इस अवसर पर मशहूर कबड्डी खिलाड़ी सुरेंद्र नाडा भी मौजूद थे।

इस दौरान रामबीर सिंह खोखर ने कहा कि यह द्रोणाचार्य अवार्ड तो उन्हें पहले ही मिल जाना चाहिए, लेकिन अब भी निराशा का भाव नहीं है। उन्होंने कहा कि खेल के प्रति उनका समर्पण निरंतर जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि कबड्डी खिलाडि़यों को तैयार करने के लिए वे जल्द ही एक अकादमी खोलेंगे। खोखर के कोच रहते हुए भारतीय कबड्डी टीम ने वर्ष 2014 मंे एशियन गेम्स व 2016 में कबड्डी वर्ल्ड गेम में स्वर्ण पदक जीता। वे वर्ष 2014 में साई से रिटायरमेंट के बाद प्रो. कबड्डी के साथ जुड़ गए। शुरूआत में पटना पायरेट्स के कोच रहे और पिछले साल तक वे हरियाणा स्टीलर्स के कोच रहे। रामबीर सिंह के प्रशिक्षण में सुरेन्द्र नाडा आज देश के सबसे फाइन डिफेंडर में शुमार होते हैं। इसके अतिरिक्त दिग्गज खिलाड़ी जसवीर सिंह, जसमेर सिंह, हरदीप सिंह, रणधीर सिंह व अशाोक सिंधे भी इंटरनेशनल स्तर तक पहुंचे। उनके प्रशिक्षण में देश का झंडा बुलंद करने वाले बलवान सिंह को कोचिंग में द्रोणाचार्य अवार्ड पहले ही मिल चुका है। सम्मान समारोह के अवसर पर जागेराम, रघुबीर सिंह, उमराव सिंह, केसर, जितेंद्र, महेंद्र खोखर, राजकुमार, श्रीभगवान, दिलबाग सिंह, रणबीर सिंह, उमेद सिंह, रमेश चंद, रमेश दहिया, रामममेहर कुंडू, नरेश खोखर, प्रेम सिंह दहिया, जगदीश नरवाल, नरेंद्र खत्री, प्रकाश दहिया प्रमुख रूप से मौजूद थे।