Breaking News देश राज्य होम

स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण  -2019 में सबसे अहम् भूमिका आमजन की होगी 

स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण  -2019 में सबसे अहम् भूमिका आमजन की होगी 

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम । स्वच्छता सर्वेक्षण ग्रामीण  -2019 में सबसे अहम् भूमिका आमजन की होगी क्योंकि लोगों द्वारा स्वच्छता को लेकर दिए जाने वाला फीडबैक स्वच्छता सर्वेक्षण में अहम भूमिका निभाएगा। सिटीजन अपना फीडबैक स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 एप के माध्यम से दे सकते हैं।
यह बात आज गुरुग्राम के अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रजा ने लघु सचिवालय में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 को लेकर आयोजित बैठक के दौरान कही। अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया कि स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 के दौरान गुरुग्राम जिला के लोगों से भी स्वच्छता संबंधी फीडबैक लिया जाएगा जिसमें उनसे स्वच्छता को लेकर प्रश्न पूछे जाएंगे। टीम द्वारा आंकलन किया जाएगा कि लोग स्वच्छता को लेकर कितने जागरूक हैं। उन्होंने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण के दौरान स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 मोबाइल एप के द्वारा सिटीजन फीडबैक लिया जाएगा। अतिरिक्त उपायुक्त ने आम जनता से अपील करते हुए कहा कि वे इस मोबाइल एप को अधिक से अधिक डाऊनलोड करें और स्वच्छता को लेकर अपना फीडबैक दें।
उन्होंने कहा कि गुरूग्राम जिला में स्वच्छ सर्वेक्षण   ग्रामीण -2019   गत  14 अगस्त से शुरू हो चुका है जो सितंबर माह के अंत तक चलेगा। हम चाहते हैं कि हमारा जिला स्वच्छता के पैमाने पर देश में अव्वल आए। श्री रजा ने बताया कि भारत सरकार की टीम जल्द ही यहां पहुंचेगी जो स्वच्छता संबंधी विभिन्न महत्वपूर्ण बिंदुओं की बारिकी से जांच करेगी।
उन्होंने कहा कि लोग अपने घरों के आस पास के क्षेत्र को स्वच्छ व सुंदर बनाए रखें और साफ-सफाई सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी व्यक्तिगत, सार्वजनिक तथा सामुदायिक शौचालय चालू हालत में होने चाहिए। उन्होंने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण के दौरान टीम द्वारा स्वच्छता संबंधी प्रत्येक पहलु पर बारिकी से अध्ययन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण के दौरान कचरे के संग्रहण और परिवहन, कचरे का प्रोसेस एंड डिस्पोजल, स्वच्छता व खुले में शौचमुक्त, स्वच्छता को लेकर लोगो के व्यवहार में बदलाव, कैपेसिटी बिल्डिंग तथा इनोवेशन एंड प्रैक्टिस आदि सहित बहुत के तथ्यों पर अध्ययन होगा।
अतिरिक्त उपायुक्त ने आम जन से अपील करते हुए कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 के दौरान सभी ग्राम सचिव अपने क्षेत्र में सफाई व्यवस्था दुरूस्त रखें। उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा गठित टीम द्वारा स्वच्छता संबंधी विभिन्न बिंदुओं के अंक दिए जाएंगे।  उन्होंने बताया कि टीम द्वारा गांवो में जाकर डारेक्ट आब्र्जवेशन की जाएगी जिसके अंक होंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रो में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2109 के बारे मे आमजन को जागरूक करने के लिए विभिन्न स्थानों पर बैनर आदि भी लगवाए जा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के सभी स्कूलों व आम जन को स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 के बारे मे अवश्य जानकारी होनी चाहिए।
इस अवसर पर प्रौजेक्ट डायरेक्टर राजेश गुप्ता ने स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 के निर्धारित मानदंडो के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी नरेन्द्र सारवान सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण मौजूद थे।