Breaking News देश राज्य होम

केंद्र व राज्य सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को परिवार पहचान पत्र से जोड़ा जाएगा 

केंद्र व राज्य सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को परिवार पहचान पत्र से जोड़ा जाएगा 

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम । केंद्र व राज्य सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं को परिवार पहचान पत्र से जोड़ा जाएगा। इसके लिए जरूरी है कि सभी लोग अपना परिवार पहचान पत्र बनवाने के लिए सरकार के पास उपलब्ध डाटा में से प्रिंट आउट निकालकर उसे परिवार के सदस्य से वैरिफाई करवाया जाएगा। उस अपडेटिड फार्म में वैरिफाई करने वाले परिवार के सदस्य के हस्ताक्षर तथा मोबाइल नंबर लिखा जाएगा। इसके बाद यह फार्म प्लानिंग आॅफिसर के माध्यम से कम्प्यूटर में फीड किया जाएगा। उसके पश्चात ही परिवार को गोल्डन नंबर मिलेगा और परिवार पहचान पत्र तैयार किया जाएगा।
इस सारी प्रक्रिया की जानकारी आज मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर द्वारा वीडियों कान्फें्रसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी उपायुक्तों को दी गई। उन्होंने उपायुक्तों से कहा कि लोगों विशेषकर गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले ( बीपीएल) परिवारों, किसानों आदि को सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जल्द पहुंचाने के लिए परिवार पहचान पत्र बनाने के कार्य में तेजी लाएं। उन्होंने कहा कि सरकारी विभागों में कार्यरत सभी कर्मचारियों, चाहे वे नियमित कर्मचारी हों या डेली वेजिज अथवा एडहाॅक या अस्थाई हों, का परिवार पहचान पत्र बनाने के लिए डाटा वैरिफाई करवाने के काम को मंगलवार सांय तक हर हाल मंे पूरा करें। इसके बाद सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों के परिवारों के डाटा वैरिफिकेशन कार्य को शीघ्रता से पूरा करवाएं।
श्री खुल्लर ने कहा कि 21 अगस्त को बीपीएल कार्ड वितरण का कार्यक्रम विधानसभा क्षेत्रवार होगा। उस दिन जिनके नए बीपीएल कार्ड बने हैं, उन्हें कार्ड वितरित करने के साथ-साथ उनसे परिवार पहचान पत्र बनाने के लिए उनके परिवार के डाटा को भी वैरिफाई करवा लें। इसके अलावा, गैस ऐजेंसियों से भी इस कार्य में सहयोग लिया जा सकता है। श्री खुल्लर ने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना निकट भविष्य मंे लागू की जा सकती है और उसका लाभ लेने के लिए प्रार्थी का परिवार पहचान पत्र होना आवश्यक है। मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना के तहत उस प्रत्येक परिवार को 6 हजार रुपये सालाना दिए जाएंगे,  जिसकी वार्षिक पारिवारिक आय 1,80,000 रुपये तक हो या उसके पास दो हेक्टेयर तक भूमि हो।
इस मौके पर वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद ने बताया कि प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना, पीएम किसान मानधन पेंशन योजना, लघु व्यापारी मानधन पेंशन योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आदि को मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना के साथ जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री परिवार स्मृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए परिवार पहचान पत्र होना जरूरी है, इसलिए इन योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए सभी लाभार्थी अपने परिवार के डाटा को जल्द से जल्द वैरिफाई करके एडीसी आॅफिस के प्लानिंग आॅफिसर को दें।
वीडियों कान्फं्रेसिंग बैठक को मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव वी उमाशंकर ने भी संबोधित किया और कहा कि परिवार पहचान पत्र बनाने के लिए परिवार का डाटा वैरिफाई करने का कार्य जल्द पूरा करने के लिए इस कार्य में लगाए जाने वाले कर्मचारियों की टेªनिंग करवाई जाए। उन्होंने कहा कि इस कार्य में विभिन्न विभागांे के बीच तालमेल होना अत्यंत आवश्यक है।
गुरूग्राम के उपायुक्त अमित खत्री ने वीडियों कान्फें्रस में बताया कि जिला में पिछले दिनों बीपीएल के 530 नए लाभार्थियों की पहचान की गई है, जिन्हें बीपीएल के नए कार्ड वितरित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इनके अलावा केंद्रीय बीपीएल सूची में 11506 तथा राज्य बीपीएल सूची में 13815 लाभार्थियों के नाम पहले से दर्ज हैं।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रजा, जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक मोनिका, नगर निगम से परियोजना अधिकारी  महेंद्र, एडीसी आॅफिस से परियोजना अधिकारी जय सिंह, जिला सांख्यिकीय अधिकारी रमेश दांगी भी उपस्थित थे।