Breaking News देश राजनीती राज्य होम

फतेहपुर – धाता ब्लॉक में विशेष पेंशन शिविर का आयोजन किया गया डीएम फिर भी रहे नदारद

 

धाता ब्लॉक में विशेष पेंशन शिविर का आयोजन किया गया डीएम फिर भी रहे नदारद

फतेहपुर – दिनांक 16 अगस्त 2019 को धाता ब्लॉक में विशेष पेंशन शिविर के लिए डी एम फतेहपुर एवं विधायिका कृष्णा पासवान, और समाज कल्याण अधिकारी, को आना था जिसमें यह कार्यक्रम लगभग 11:00 बजे के लिए निर्धारित किया गया था सुबह से ही क्षेत्र की जनता आकर बैठ गई और विभिन्न पेंशन योजनाओं को कार्यान्वित रूप देने के लिए वहां के कर्मचारी लग गए जिसमें विधवा पेंशन विकलांग पेंशन आयुष्मान भारत कार्ड और 60 वर्ष से ऊपर के क्षेत्रवासियों को पेंशन की योजनाओं को जानकारी देते हुए उनसे फार्म भराए गए और शिकायत के लिए लोग दर-दर भटकते रहे किसी जिम्मेदार कर्मचारी का पता नहीं चला कुछ देर बाद लगभग 2:00 बजे एस डी एम महोदय का आगमन हुआ और कुछ देर बाद वह फिर से चलते बने इसके बाद लगभग 4:00 बजे तक किसी कर्मचारी अधिकारी नेता का पता नहीं चला क्षेत्र की जनता का गुस्सा बढ़ता गया और वीडियो धाता गोपीनाथ पाठक को लोगों ने अपनी परेशानी बताई जिससे वो भड़क गए और क्षेत्र की जनता से रूबरू होने के बजाय उन्हीं पर गुस्सा उतारने लगे और मीटिंग हाल से निकाल कर अपने ऑफिस के लिए रवाना हो गए क्षेत्र की जनता वीडियो मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए पूरे प्रांगण में घूम रही थी तभी अचानक फतेहपुर की विधायिका कृष्णा पासवान का आगमन हुआ और ऐसा लगने लगा था कि पूरे ब्लाक परिसर में कुछ क्षेत्र की जनता की बात सुनी जाएगी मीटिंग हॉल में विधायिका जी पहुंची अपनी सरकारी योजनाओं का बखान करने लगी जहां तक आवास की बात आई कुछ क्षेत्र के लोगों ने आवास में पैसे लेने की बात कही तो विधायिका जी भी क्षेत्रवासियों पर बिगड़ पड़ी और उल्टे शिकायतकर्ता को धमकाने लगीं जिन्होंने 20000 ,हजार ग्राम प्रधानों और सचिवों को पैसे देने की बात कही विधायिका जी ने उन्हीं को धाता यशो से पकड़ने और उनको बंद करने की बात कही गई धाता यशो ने कुछ लोगों को उठाकर बंद भी किया लेकिन क्षेत्रवासियों का गुस्सा बराबर बना रहा कि अगर हम अपनी बात अपने नेता से कहते हैं तब भी नहीं सुनी जाती तो हम जाएं तो कहां जाएं और डी एम महोदय फिर भी नदारद दिखे असली बात बताते चले इसी तरह 30 जुलाई को वीडियो और डीडीओ साहब का आगमन धाता ब्लाक में होना था लेकिन किसी कारण का बहाना लेते हुए विजयपुर ब्लाक तक आए और धाता ब्लाक आने के लिए उनको भी फुर्सत नहीं मिली इस प्रकार से फतेहपुर जिले का धाता ब्लॉक की तरफ आने के लिए कोई अधिकारी तैयार नहीं है इसीलिए पूरे ब्लॉक में भ्रष्टाचार के मामले बढ़ते जा रहे हैं और क्षेत्र की जनता त्राहिमाम मचाती हुई अपने कार्यों को अपनी जरूरत के हिसाब से और प्रधानों सचिवों से उठकर शिकायत करें तो कहां करें बेचारी जनता मूकदर्शक बनकर रह जाती है

इंडिया नाउ 24

राजेश कुमार सिंह 

चीफ रिपोर्टर खागा