Breaking News देश राजनीती राज्य होम

मेरठ – उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में अवैध निर्माणों का बोलबाला भ्रष्टाचार चरम सीमा पर मेरठ विकास प्राधिकरण के अभियंताओं का कहना हम नहीं सुधरेंगे

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में अवैध निर्माणों का बोलबाला भ्रष्टाचार चरम सीमा पर मेरठ विकास प्राधिकरण के अभियंताओं का कहना हम नहीं सुधरेंगे

मेरठ विकास प्राधिकरण के जोन ए सेक्टर 4 में सोनू सीएनजी गैस वाले के दो निर्माण चल रहे हैं जिसमें एक निर्माण में बताया जाता है कि ₹100000 चेक के लिए कंपाउंडिंग के लिए जमा कर दिया गया है लेकिन ऐसा भी लगता है कि यह हवाई फायर है एक निर्माण इसका मेरठ विकास प्राधिकरण के सीटीपी प्लांट के सामने बन रहा है बताया जाता है कि इस पर सील के आदेश है लेकिन ओमपाल सिंह अभियंता के रिश्तेदार होने के नाते ओमपाल जी इस पर सील लगाने से कतरा रहे हैं मेरठ विकास प्राधिकरण ने अभियंताओं ने अवैध निर्माण कर्ताओं को अपना रिश्तेदार बताना चालू कर दिया है ऐसा इस नियमावली से हुआ है कि हम भ्रष्टाचार में लिप्त होने से कैसे बचें हम कभी नहीं सुधरेंगे यह दोनों निर्माण पूर्ण अभियंता सोमेंद्र चौहान के समय के भी है पैसा सोमेंद्र चौहान ने भी खाया है और ओमपाल जी तो अपना रिश्तेदार बताते हुए इन दोनों निर्माणों को बचाना चाहते हैं लेकिन मेरठ विकास प्राधिकरण के अभियंताओं के तो यह रिश्तेदार है लेकिन मेरठ विकास प्राधिकरण के कंपाउंडिंग में कुछ नहीं जमा कर पा रहे एक ऐसा ही निर्माण जिस पर चील लगाई गई थी सौमेंद्र चौहान के समय में सील तोड़कर उस कार्य को पूरा कर दिया गया विनिर्माण तिरुपति गेस्ट हाउस है जिस पर जिस पर मेरठ विकास प्राधिकरण द्वारा अभियंताओं के द्वारा मोटी रिश्वत का कर इस निर्माण को पूरा करा दिया गया और फाइल को गायब कर दिया गया इसलिए मेरठ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व सचिव को बदनाम किया जा रहा है और साथ में उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी बखूबी तरीके से बदनाम किया जा रहा है
मेरठ से ब्यूरो चीफ वीके गुप्ता की रिपोर्ट