Breaking News देश मनोरंजन राज्य होम

ब्राजील में संपन्न रेड बुल नेमार जूनियर्स फाइव के फाइनल में हंगरी की जसिर्क्रेटाक टीम को मिला ताज

ब्राजील में संपन्न रेड बुल नेमार जूनियर्स फाइव के फाइनल में हंगरी की जसिर्क्रेटाक टीम को मिला ताज

–    नेमार जूनियर्स फाइव 2019 की राष्ट्रीय चैंपियंस कलिना रेंजर्स ने विश्व फाइनल्स में किया भारत का प्रतिनिधित्व और आगे जाकर चैंपियन बनने वाले हंगरी के खिलाफऐतिहासिक जीत दर्ज की

–    नेमार जूनियर से मिलने का कलिना से साओ पाउलो  तक का सफर

–    चोट के चलते लंबे समय से मैदान से दूर रहे ग्लोबल फुटबॉल सुपरस्टार नेमार जूनियर भी पहली बार एक्शन में दिखे

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

 प्राइया ग्रांडे, ब्राजील में रेड बुल नेमार जूनियर्स फाइव विश्व फाइनल में दुनिया की दो सबसे दमदार फाइव-ए-साइड फुटबॉल टीमों को ताज पहनाया गया। इसके लिए खासतौर पर ग्लोबल फुटबॉलसुपरस्टार नेमार जूनियर ने कोपा अमेरिका में लगी चोट के बाद पहली बार मैदान में कदम रखा। यहां स्थित इंस्टीट्यूटो प्रोजेटो नेमार जूनियर में 12-13 जुलाई को वर्ल्ड फाइनल्स में जबरदस्त भिडंत के बाद हंगरी (मिश्रित)और स्लोवाकिया (महिला) शीर्ष पर रहे। यही वह जगह है जहां ब्राजील के लोग फुटबॉल खेलते हुए बड़े होते हैं। रेड बुल नेमार जूनियर्स फाइव दुनिया का सबसे बड़ा फाइव-ए-साइड फुटबॉल टूर्नामेंट है। एनर्जी ड्रिंक काबड़ा खिलाड़ी ‘रेड बुल’ इसका आयोजन करता है।

रेड बुल नेमार जूनियर्स फाइव 2019 की भारतीय चैंपियन टीम, मुंबई की कलिना रेंजर्स ने ब्राजील में विश्व फाइनल में देश का प्रतिनिधित्व किया और हंगरी के खिलाफ ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए बेशकीमती तजुर्बाहासिल किया। गौरतलब है कि हंगरी की टीम ही आगे जाकर टूर्नामेंट की विजेता बनी। दुर्भाग्य से, लक्जमबर्ग के साथ बराबरी पर छूटने और स्पेन तथा अंगोला के खिलाफ दिल तोड़ने वाली हार के साथ भारतीय टीम काटूर्नामेंट में सफर ग्रुप स्टेज में ही खत्म हो गया था। इसके पहले एंथनी मचाडो, टायसन पेरीरा, हैंडरसन डियास, रेयान शेख, क्रेग डिसूजा, मेल्विन बारबोजा और चार्नेल डी’अल्मीडा की टीम ने कोलकाता में रेड बुल नेमारजूनियर्स फाइव का राष्ट्रीय फाइनल जीता था। विश्व फाइनल में टीम इंडिया के तौर पर खेलते हुए उन्होंने विपक्षियों को कड़ी टक्कर दी और उन्हें दुनिया के सबसे बड़े 5-ए-साइड फुटबॉल टूर्नामेंट में भागीदारी का मूल्यवानअनुभव मिला। सभी मैच और नतीजे यहां फिर से देखे जा सकते हैं- टीम कलिना रेंजर्स मुंबई, भारत के खिलाड़ी एंथनी मचाडो कहते हैं, “ब्राजील में होना और भारत का प्रतिनिधित्व करना एक खास अहसास है। हमें इस बात पर भी गर्व है कि हम रेड बुल नेमार जूनियर्स फाइव 2019 नेशनलचैंपियंस में हिस्सा लेने वाली 3216 टीमों के बीच विजेता बनकर उभरे। इसने एक दिन ब्राजील में खूबसूरत खेल खेलने के हमारे सपने का पूरा होना मुमकिन बनाया। हमने यहां विश्व फाइनल्स में कुछ विश्व स्तरीय फुटबॉलटीमों के खिलाफ खेला। यह 10 मिनट का मैच होता हैगेंद कभी भी आंखों से ओझल नहीं होती है और आपको लगातार खेलना पड़ता है। इसलिए आपको मजबूत गेम प्लान के साथ ही अपने भीतर बहुत एनर्जी भी रखनीहोती है। हम रेड बुल का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं कि उसने लगातार हमें नए पंख दिए और इस तरह के टूर्नामेंटों के जरिए 5साइड फुटबॉल के प्रति अपना समर्थन दिया है। हम थोड़े निराश तो हैं कि हम ग्रुप स्टेज सेआगे नहीं जा सकेहालांकि हमें गर्व है कि हमने अपना अंतिम मैच हंगरी की टीम के खिलाफ जीताजो आगे चलकर अंततचैंपियन बनी। यह सीखने का एक शानदार अनुभव था और निश्चित रूप से हमारे खेल को बेहतरबनाने में मदद करेगा। इस दौरान नेमार जूनियर से मिलने का हमारा सपना भी साकार हुआ।

इस वर्ष की प्रतियोगिता के क्वालीफायर राउंड्स में 1,00,000 से अधिक खिलाड़ियों की सहभागिता रही और छह महाद्वीपों के 40 देशों में शानदार फाइव-ए-साइड खिलाड़ियों ने संघर्ष किया। हंगरी ने अपने आठ मैचों में से 7जीते, जिसमें फाइनल में स्पेन पर 2-0 की जीत भी शामिल है। उसे मिश्रित प्रतियोगिता का खिताब मिला। हंगरी को अपनी एकमात्र हार भारत की टीम कलिना रेंजर्स के हाथों झेलनी पड़ी। द्वितीय महिला विश्व चैंपियन होने कासम्मान स्लोवाकिया को मिला। यह टीम पूरे टूर्नामेंट में लगातार अजेय बनी रही और फाइनल में जापान को 2-1 से करीबी मात दी। दोनों विश्व चैंपियन टीमों को पेरिस सेंट-जर्मेन में नेमार जूनियर से मिलने के लिएएक्सक्लूसिव बिहाइंड द सीन्स ट्रिप का मौका मिलेगा। रेड बुल द्वारा आयोजित प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के विजेता के रूप में अब हंगरी की जसिर्क्रेटाक और स्लोवाकिया की स्पार्टक मायजावाजेनी टीम मैक्सिको की डेपोर्टिवो मागोऔर ब्राजील की रेसेन्हा (2018), रोमानिया की ताओ यूनाइटेड (2017) और ब्राजील की अन्जोस दा बोला (2016)  जैसी टीमों की कतार में शामिल हो गई हैं।

नेमार जूनियर ने दोस्तों और परिवार के साथ स्टैंड से सेमीफाइनल और फाइनल मैच देखे। इसके बाद उन्होंने दो यादगार मैचों में विश्व चैंपियनों का सामना करने के लिए अपनी खुद की विशेष टीम के साथ मैदान पर कदमरखा। टखने की चोट ने उन्हें छह सप्ताह तक मैदान से बाहर रखा था। इस लंबे अरसे के बाद यह नेमार जूनियर का पहला एक्शन था। लेकिन इस 27 वर्षीय खिलाड़ी ने बखूबी जता दिया कि इस दौरान उनमें कोई जंग नहींलग पाई है। मैदान पर उन्होंने अपने दांव-पेचों से नए-नए विश्व चैंपियंस को खूब छकाया और उन्हें हैरान करके रख दिया।

प्रतियोगिता के बाद चर्चा करते हुए नेमार जूनियर खिलाड़ियों के प्रदर्शन से काफी प्रभावित दिखे। ब्राजील के फॉरवर्ड खिलाड़ी ने कहा: “स्तर वाकई बहुत ऊंचा था, और आज तो वास्तव में बहुत गहन रहा। यह प्रतियोगितामुझे अपने बचपन की याद दिलाती है जब मैं यहां की गलियों में 5×5, 3×3, 2×2 खेलता था। यह मेरे लिए वाकई बड़े गर्व की बात है कि जहां मैं पला-बढ़ा, उस जगह पर इतने सारे देशों के लोगों की मेजबानी कर पाया।”