Breaking News देश राज्य होम

डेढ़ करोड़ की ठगी का शिकार हुआ किसान, विरोध प्रदर्शन कर लगाई इंसाफ की गुहार

डेढ़ करोड़ की ठगी का शिकार हुआ किसान, विरोध प्रदर्शन कर लगाई इंसाफ की गुहार

किसान के समर्थन में उतरा परिवर्तन संघ

घंटों बैंक के सामने प्रदर्शन कर राकेश दोलताबाद ने प्रशासन को चेताया

बैंक में शिकायत दर्ज दर्ज कराने पर पुलिस ने मामला दर्ज कराने की दी धमकी : राकेश

मुआवजे के मिले करोड़ों को सिस्टम की चूक ने किसान को किया कंगाल

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुड़गांव :  करीब 3 माह पहले किसान लीलाराम के खाते से हुई करोड़ों रूपये की ठगी की शिकायत बैंक मे देने के बाद महीनो बीत गये तो सेकड़ों किसानों ने आज एकत्रित होकर परिर्वतन संघ के अध्यक्ष राकेश दोल्ताबाद के साथ मिलकर विरोध प्रदर्शन किया और इंसाफ की गुहार लगाई। राकेश दोल्ताबाद ने आरोप लगाते हुए कहा कि बैंक के कर्मचारियों के गलत बर्ताव तथा तानाशाह रवैये के चलते पॉलिसी तथा फोर्मेलटी की 25 क्लोज पुरे करने में ही अनपढ़ किसानों को महीने धक्के खिला दिए। जिसके विरोध में आज प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया गया है। उन्होंने कहा कि विरोध के बाद पुलिस आई और पुलिस ने भी उन्हें बैंक से बाहर जाने की हिदायत देते उल्टे प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ ही मामला दर्ज कर कार्यवाही की बात कही, जबकि किसान के साथ ठगी करने वालों के खिलाफ पुलिस आज तक कुछ नही कर सकी।

  साइबर सिटी में किसानों की हितेषी कहे जाने वाली भाजपा सरकार में किसानों के साथ करोड़ों की ठगी के मामले सामने आ रहे है। गुडगाँव में मोहमदपुर निवासी लीलाराम को जमीन के मुआवजे के करोड़ों रूपये मिले थे, जोकि खाते में काफी दिनों से पड़े हुए थे, लेकिन इन करोड़ों रूपये पर सिस्टम की कुछ लापरवाही से सेंध मारी कर ठगी कर ली गई। जानकारी के अनुसार 11 अप्रैल से 21 अप्रैल की बिच किसान के खाते से फर्जी तरके से पहले तो ए.टी.एम. कार्ड बनवा लिया गया, जिसके बाद उस ए.टी.एम. के माध्यम लाखों लाखों रूपये की ट्रांजेक्शन करते हुए करीब 1 करोड़ 37 लाख रूपये खाते से निकाल लिए गये। किसान द्वारा जब बैंक में कॉपी में एंट्री कराने के लिए पहुंचा तो कॉपी में पैसे कम देख किसान के पैरो तले जमीन निकल गई। जिसके बाद मामले की शिकायत बैंक मेनेजर तथा पुलिस को दी गई।

किसान लीलाराम कहते है कि उन्हें महीनों से बैंक धक्के खिला रहा है, लेकिन अभी तक शिकायत की प्रक्रिया ही बैंक द्वारा पूरी नही की गई है। जिसके विरोध में उन्होने आज प्रदर्शन किया है।

बैंक वालों का रवैया रुडली तथा तानाशाह वाला है, जोकि पीड़ित किसान को गुमराह कर धक्के खिला रहे है। करोड़ो की ठगी को बैंक अधिकारी हल्के में ले रहे है और प्रकिया का हिस्सा बताते हुए महीनों निकाल दिए है। जिसका हम विरोध कर रहे है और जिला प्रशासन तथा बैंक के उच्च अधिकारिओं को इसमें हस्तक्षेप कर मामले को गम्भीरता से लेते हुए किसान के पैसे वापस लौटाने चाहिए।