Breaking News देश राज्य होम

किसानो को 25 जुलाई तक अटल सेवा केंद्र पर जाकर देना होगा फसलों का ब्यौरा

किसानो को 25 जुलाई तक अटल सेवा केंद्र पर जाकर देना होगा फसलों का ब्यौरा
-किसानो का अब ई-खरीद पोर्टल पर पंजीकरण करवाना अनिवार्य। 

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम । कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा ‘मेरी फसल-मेरा ब्यौरा‘ के तहत किसानों की फसल का रजिस्टेªशन किया जा रहा है। किसान अपने नजदीकी अटल सेवा केन्द्र पर जाकर 25 जुलाई तक अपनी फसल का रजिस्ट्रेशन ई-खरीद पोर्टल पर करवा सकते हंै।
इस बारे में जानकारी देते हुए कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डा. आत्माराम गोदारा ने बताया कि ऑनलाइन पंजीकरण करने का कार्य गांव में स्थित अटल सेवा केंद्रों पर किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस खरीफ सीजन में किसानो के लिए अपनी फसलों का ब्यौरा देकर ई-खरीद पोर्टल पर पंजीकरण करवाना अनिवार्य है ताकि किसानो को अपनी फसलों की अच्छी कीमत मिल सके और उन्हें फसलों को बेचने में किसी प्रकार की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े। उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा इसलिए की जा रही है ताकि दूसरे राज्यों से लाकर फसल की बिक्री हरियाणा की मंडियो मे ना हो।
जिला में फसल के आकड़ो पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि बाजरा फसल का रकबा लगभग 35 हजार हेक्टेयर है जिसके लिए पिछले साल करीब 9 हजार किसानो ने पंजीकरण  करवाया था। रबी सीजन के दौरान जिला में 51 हजार हेक्टेयर में गेंहू तथा 15 हजार हैक्टेयर में सरसों की बुआई होती है। उन्होंने बताया कि पिछले वित्त वर्ष में सरसो फसल के लगभग 20 हजार 500 किसानों तथा  गेंहू उत्पादक 9400 किसानो ने अपना पंजीकरण ई-खरीद पोर्टल पर करवाया था।
उन्होंने बताया कि अब की बार इस खरीफ सीजन में मेरी फसल मेरा ब्यौरा स्कीम के तहत सभी किसानो को ई- खरीद पोर्टल पर फसल का पंजीकरण करवाना अनिवार्य कर दिया गया है ताकि किसानों को अपनी फसल को निर्धारित समर्थन मूल्य पर बेचने में कोई दिक्कत न आए। उन्होंने स्पष्ट किया कि जो किसान अपनी फसल का पंजीकरण अब नही करवाएंगे , उनकी फसल सरकार द्वारा नही खरीदी जाएगी। उन्होंने बताया कि अगर किसानो को पंजीकरण के दौरान किसी भी तरह की कोई परेशानी आती है तो वे गांव के कृषि विकास अधिकारी या खण्ड अधिकारी से सम्पर्क कर सकते है।