Breaking News देश राजनीती राज्य होम

बाबा रामदेव के निशाने पर अब दो से अधिक बच्चे वाले परिवार

ब्रेकिंग न्यूज

बाबा रामदेव के निशाने पर अब दो से अधिक बच्चे वाले परिवार

देश में पहले काले धन और महंगाई को लेकर चिन्तित रहने वाले बाबा रामदेव एनडीए सरकार बनने के बाद से महंगाई और काले धन की चिंता छोड़ चुके थे।
अक्सर बयानों और विरोध प्रदर्शन करने वाले बाबा रामदेव एनडीए सरकार आने के बाद से शांत बैठ गए थे।
वही एक बार फिर बाबा रामदेव सक्रिय नज़र आ रहे है।
इसके पहले चुनावों के दौरान बाबा रामदेव ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को लेकर जारी अपने बयान में कहा था कि वह देश भक्त महिला है?
अब बाबा रामदेव ने एक वर्ग विशेष को निशाने पर रखते हुवे ऐसे कानून की मांग किया है जिसमे दो से अधिक बच्चे पैदा करने पर होने वाले बच्चे को मताधिकार, चुनाव लड़ने के अधिकार तथा अन्य सरकारी सुविधाओं से वंचित कर दिया जाना चाहिए!
हरिद्वार में एक संवाददाता सम्मेलन में बाबा रामदेव ने कहा कि जिस तरह से देश की जनसंख्या बढ़ रही है ।
उसके लिये भारत तैयार नहीं है और किसी भी दशा में भारत की आबादी 150 करोड से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
बाबा रामदेव ने कहा, ‘यह तभी हो सकता है जब देश में ऐसा कानून बने कि जो भी दो से ज्यादा बच्चे पैदा करे तो उसके बच्चे को वोट देने का अधिकार न हो,।
चुनाव लड़ने का अधिकार न हो और सरकार की ओर से जो सुविधायें दी जाती हैं, उन सभी सुविधाओं से उसे वंचित कर दिया जाये।
बाबा रामदेव ने साल के शुरुआत में भी ऐसा बयान दिया था।
जनवरी महीने में रामदेव ने कहा था कि भारत में जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए दो से अधिक बच्चे वाले लोगों को मतदान के अधिकार से वंचित किया जाना चाहिए।
साथ ही उन्हें किसी भी चुनाव में खड़े होने का अधिकार नहीं दिया जाना चाहिए?
रामदेव ने कहा, ‘जिन लोगों के पास दो से अधिक बच्चे हैं उन्हें मतदान और चुनाव लड़ने का अधिकार नहीं दिया जाना चाहिए।
उन्हें सरकारी स्कूलों या सरकारी अस्पतालों में प्रवेश भी नहीं दिया जाना चाहिए।
उन्हें कोई सरकारी नौकरी नहीं दी जानी चाहिए।
रामदेव ने कहा था कि उनका मंत्र है जाति, धर्म या आर्थिक स्थिति के बावजूद हम दो, हमारे दो, सबके दो।
उन्होंने कहा था, ‘मैं भारत को एक महाशक्ति के रूप में देखना चाहता हूं। हम दो, हमारे दो !
इस संकल्प के रास्ते में कोई जाति, कोई धर्म, कोई राजनीति नहीं आनी चाहिए।
अगर हम अभी सुधारात्मक उपाय नहीं करते हैं, तो जनसंख्या एक अभिशाप बन जाएगी।’

लालगंज तहसील संवाददाता
अमरेश कुशवाहा
India now 24