Breaking News देश राजनीती राज्य होम

निघासन(लखीमपुर खीरी) – पुलिस अधिकारियों ने खूब लूटी वाह वाही,परन्तु नही बता पाए तीसरा लुटेरा आया कहां से

पुलिस अधिकारियों ने खूब लूटी वाह वाही,परन्तु नही बता पाए तीसरा लुटेरा आया कहां से

लखीमपुर खीरी। निघासन कोतवाली क्षेत्र में विगत दिनों शाक्य गैस एजेंसी पर दो पहिया वाहन से आये दो नकाब पोस लुटेरों ने गोदाम प्रभारी की आंखों में मिर्ची झोंक कर 132372 रु0 छीन कर भाग गए थे।जिसकी सूचना गोदाम प्रभारी ने थाना निघासन में एक तहरीर देकर मुकदमा अपराध संख्या2019 धारा394 के तहत पंजिकृत कराकर लुटेरों को पकड़ने का अनुरोध किया था।जिसपर क्षेत्राधिकारी निघासन पुलिस की कई पार्टियां गठित करके मुखबिरों को लगा दिया था।मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने अपने दलबल के साथ दोनो नकाब पोस लुटेरों को बगैर नम्बर की बाइक के साथ लछराम व शेर सिंह को दबोच लिया था। लछराम के पास से 33805 रु0 व शेर सिंह के पास से 32910रु0 बरामद करके कुल रु0 66715 पुलिस ने बरामदगी दिखायी।जब इस सम्बन्द्ध में पुलिस अधीक्षक श्री मती पूनम से पूंछा गया कि 132372रु0 लूटे थे बाक़ी रु0 कहाँ गए। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि तीसरा अनिल उर्फ छोटे पुत्र राम सिंह निवासी कस्बा व थाना निघासन अभी भी फरार है। कुछ पत्रकारों ने कहा नकाब पोश लुटेरे दो ही थे तो अनिल उर्फ छोटे कहाँ से आ गया । पुलिस मुखिया ने कोई जवाब ही नही दिया और मौन धारण कर लिया।मजे की बात तो यह है कि इस लूट का पर्दाफाश करने के लिए पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक घनश्याम चौरसिया,क्षेत्रधिकारी निघासन,रविन्द्र कुमार वर्मा,प्रभारी निरीक्षक कोतवाली निघासन अमित कुमार दुवे,व उपनिरीक्षक नरेंद्र प्रताप,जयप्रकाश यादव,हैड कास्टेबल प्रभूदयाल, सिपाही मृत्युंजय कुमार पांडेय,रवि कुमार पाठक,योगेश कुमार वर्मा ने वाह वाही लूटने का भरपूर प्रयास किया है।इसी बीच एक पत्रकार ने पुलिस अधीक्षक से पूंछा की आपके कार्यालय से जो प्रेस नोट जारी होते हैं उस पर किसी सक्षम अधिकारी के हस्ताक्षर नही होते है यदि अपराधी इसी प्रकार के प्रेस नोट जारी करके बतादें कि यह प्रेस नोट पुलिस कार्यालय से आया है तो तमाम पत्रकारों की जान जोखिम में फंस जाएगी।इसी बीच पुलिस अधीक्षक पूनम के पास एक फोन आ गया और बात आई गयी हो गयी।

जसवन्त कुमार वर्मा, निघासन लखीमपुर खीरी, इडिया नाउ 24