Breaking News देश राज्य होम

गुरूग्राम । गर्म हवाओं से बचाव हेतु राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने जारी की एडवाईजरी

गर्म हवाओं से बचाव हेतु राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने जारी की एडवाईजरी

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम । हरियाणा सरकार के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा गर्म हवाओं/लू से बचाव के लिए एडवाईजरी जारी की गई है। इसमें कहा गया है कि लू एवं गर्म हवाओं से शारीरिक तनाव की स्थिति उत्पन्न हो सकती है, जिसके कारण मौत होने का खतरा भी बना रहता है। गर्म हवाओं के प्रभाव को कम करने तथा गर्मी स्ट्रॉक की वजह से गंभीर बीमारी या मृत्यु को रोकने के लिए कुछ उपाय उपयोगी होते हैं।

क्या करें : विभाग द्वारा जारी एडवाईजरी में कहा गया है कि स्थानीय मौसम की जानकारी के लिए रेडियो सुने, टीवी देखें तथा समाचार पत्र पढ़ें, ताकि गर्म हवाओं/लू के आने के बारे में सूचना मिल सके। पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं तथा जितनी बार संभव हो अधिक से अधिक पानी पीएं भले ही प्यास ना हो। धूप में बाहर जाने के दौरान हल्के रंगों के, ढ़ीली फीटिंग के तथा सूती कपड़े पहनें। साथ ही सुरक्षात्मक चश्में, छाता, पगड़ी/दुपट्टा/टोपी, जूते या चप्पलों का उपयोग करें। यात्रा करते समय पानी साथ रखें तथा अगर आप बाहर काम करते हैं, तो टोपी या छाते का उपयोग करें और अपने सिर, गर्दन, चेहरे और अन्य अंगों पर नम कपड़ा रखें। शरीर को पुन: हाईड्रेट करने के लिए ओआरएस, घर का बना पेय जैसे लस्सी, नींबू पानी, छाछ आदि का प्रयोग करें। गर्मी के स्ट्रॉक, गर्मी के दाने या गर्मी से ऐंठन जैसे कि कमजोरी, चक्कर आना, सिर दर्द, मितली और दौरे के लक्षणों को पहचाने तथा यदि आप बेहोश या बीमार महसूस करें, तो तत्काल डाक्टर से परामर्श करें। जानवरों को छाया में रखें और उन्हें पीने का पर्याप्त पानी दें। अपना घर ठंडा रखें और दिन के दौरान पर्दे, शटर का उपयोग करें तथा रात में खिड़कियां खुली रखें। पंखों, नम कपड़ों का प्रयोग करें और ठंडे पानी से स्नान करें। कार्यस्थल के पास ठंडा पेयजल उपलब्ध करवाएं तथा श्रमिकों को प्रत्यक्ष सूर्य के समक्ष होने वाले कार्यों से बचाएं। श्रमयुक्त कार्यों को दिन के ठंडे समय के दौरान करें तथा बाहरी गतिविधियों के दौरान आराम के समय को बढ़ाएं। गर्भवती महिलाओं, और मजदूरों का चिकित्सकीय परामर्श की स्थिति में अतिरिक्त ध्यान रखें।

क्या ना करें : विभाग द्वारा जारी एडवाईजरी में कहा गया है कि खड़े किए हुए वाहनों में बच्चों या पालतू जानवरों को ना छोड़ें। दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच बाहर जाने से बचें। भारी काले व तंग कपड़े पहनने से बचें। तापमान अधिक होने की स्थिति में श्रमयुक्त कार्य करने से बचें तथा दिन के गर्म समय में खाना पकाने से बचें और खाना पकाते समय दरवाजे और खिड़कियां खुली रखें। शराब, चाय, कॉफी और कार्बोनेटेड शीतल पेय से बचें, जो शरीर में पानी की कमी करते हैं। इसके साथ ही उच्च प्रोटीनयुक्त व बासी भोजन को ना खाएं।