Breaking News देश राज्य होम

गुरूग्राम। एक बार फिर अंबेडकर भवन पर मंडराये टूटने के बादल

एक बार फिर अंबेडकर भवन पर मंडराये टूटने के बादल
हरियाणा की भाजपा सरकार बनी दलितों के मसीहा बाबा साहेब अंबेडकर भवन की दुष्मन, बार-बार किया जा रहा है संविधान निर्माता को अपमानित
मंत्री राव नरबीर व तत्कालीन हुडडा प्रषासक यषपाल यादव ने किया दलित समाज के साथ धौखा

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम। बादषाहपुर में ऐलिवेटेड रोड बनाये जाने को लेकर सडक के दोनो ओर बने वैध व अवैध निर्माणों को एनएचएआई द्वारा तोडा जा रहा है। इसी कडी में ही बादषाहपुर स्थित डॉक्टर भीमराव अंबेडकर भवन को भी तोडने के लिए निषान लगा दिया गया है। जिसके चलते दलित समाज सहित आस-पास के क्षेत्र में रोष की लहर दौड गई हैं। दलित समाज के लोगों ने ऐलान किया है कि इस बार अगर बाबा साहेब के भवन की एक ईंट को भी हमसे बिना स्लाह के हिलाया गया तो वो उग्र प्रदर्षन करने को मजबूर हो जायेंगे।
बार बार किया गया दलित समाज के साथ धौखा
20 साल पूर्व बादषाहपुर पंचायत ने प्रस्ताव पास करके दलित समाज के लिए मैन रोड पर अंबेडकर भवन बनाने के लिए करीब 300 वर्ग गज जमीन दी थी। लेकिन उस जगह को दलित समाज से ये कहकर छीन लिया गया कि यहां पर बस स्टैंड बनाया जायेगा। जहां पर अब तहसील बिल्डिंग बनाई गई है। उस जमीन के बदले में सोहना रोड जहा पर अभी वाटिका चौक बना हुआ है वहां पर 1200 वर्ग गज जमीन दी गई। वहां पर दलित समाज ने भवन बनवा दिया। यहां से भी भवन को सडक निर्माण में लेकर इस षर्त पर हटा दिया गया कि साढे तीन लाख रूपये मुआवजा दिया जायेगा और साथ ही ये भी वादा किया गया कि अब जहां पर जगह दी जायेगी वहां पर सरकार द्वारा दो मंजिला बाबा साहेब का भवन बनवाकर दिया जायेगा। इस भवन को षिफट करवाने में तत्कालीन हुडडा प्रषासक यषपाल यादव व मंत्री राव नरबीर सिंह ने दलित समाज को गुमराह करने में अहम रोल अदा किया था। इन पर भरोसा करके भवन को षिफट करने में दलित समाज ने जरा भी विरोध नहीं किया। लेकिन करीब 2 साल बीत जाने के बाद भी न तो एक रूपये मुआवजा दिया गया और न ही भवन बनाने के लिए एक ईंट सरकार द्वारा लगवाई गई है। यहां पर 1200 वर्ग गज जमीन की जगह मात्र 785 वर्ग गज जमीन दी गई। प्रषासन द्वारा दी गई जमीन को गिरदावरी चढा कर लिखित में दिया गया था। इतना ही नहीं ये भी कहा गया था कि अब ये जमीन पूरी तरह से सुरक्षित है। उनके भरोसे पर समाज ने फिर यहां भवन बनाने में लाखों रूपये लगा दिये। लेकिन अब फिर से एनएचएआई द्वारा इसे तोडने के निषान लगा दिये गये हैं।

इस बारे में उपायुक्त महोदय को षिकायत दे दी गई है और दो दिन पूर्व निगम कमिष्नर यषपाल यादव से बाद की गई तो उन्होंने पहले तो ये कहा कि भवन को कोई खतरा नहीं लेकिन बाद में गोलमोल जवाब दिया। बार बार संविधान निर्माता विष्व रत्न बाबा साहेब के भवन को भाजपा की हरियाणा सरकार द्वारा मन मर्जी तोडकर बाबा साहेब को अपमानित किया जा रहा है, जिसे दलित समाज अब बर्दास्त नहीं करेगा। इस मौके पर अंबेडकर सभा के प्रधान प्रदीप निराला, उपप्रधान विनोद कुमार, जनरल सैक्टरी नारायण सिंह,खजांची योगराज बौद्ध, मीडिया प्रभारी सुरेंद्र जाटव, बिरम प्रकाष कांगडा, राकेष निराला, जयंसिंह अहलावत, मास्टर राकेष, अजय फाजिलपुर, उदल मेम्बर, राजकुमार चौहान, सूरजमल मेम्बर, पवन, विनोद, राजेष कुमार, नवीन निराला, प्रताप, वेदप्रकाष रंगा, मास्टर सुन्दर लाल, गजेंद्र नंबरदार, अमित कुमार, पटवारी बिरजू, दिपक, विक्रम, राहुल सहित सैकडों लोग मौजूद थे।