Breaking News देश राज्य होम

गुरुग्राम । प्रोटोकोल अनुसार सिखाए 20 योगाभ्यास व प्राणायाम

प्रोटोकोल अनुसार सिखाए 20 योगाभ्यास व प्राणायाम
-अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए आमजन को दिया गया योग व प्राणायाम का प्रशिक्षण।

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम । अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मद्देनजर आमजन के लिए योगाभ्यास प्रशिक्षण शिविर हुडा जिमखाना क्लब सैक्टर-4 में आयोजित किया गया जिसमें जिला योगा एक्सपर्ट पूनम बिमरा व योगा प्रशिक्षक अजीत ने प्रतिभागियों को प्रोटोकोल के अनुसार 20 योगाभ्यास व प्राणायाम का विधिवत् अभ्यास करवाया। यह शिविर उपायुक्त अमित खत्री के मार्गदर्शन में आयोजित किया गया था जिसमें प्रशिक्षार्णियों को रिफ्रेशमेंट भी दी गई।
योग प्रशिक्षकों ने उपस्थित बच्चों व आमजन को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रोटोकोल के तहत किए जाने वाले ग्रीवाचालन, स्कंध संचालन, ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्धचक्रासन व त्रिकोणासन बैठकर करने वाले दंडासन, भद्रासन, वज्रासन, अर्ध उष्टासन, उष्टासन, शशकासन, उत्तानमंडूक व वक्रासन, पेट के बल लेटकर किए वाले मकरासन, भुजंगासन, शलभासन तथा पीठ के बल लेटकर किए वाले सेतुबंधासन, उत्तानपाद आसन, अर्ध हलासन, पवनमुक्तासन व शवासन आदि योगासनों व प्राणायाम का अभ्यास करवाया तथा उन्हें इनसे होने वाले फायदों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। इनके साथ ही कपालभाति, अनुलोम-विलोम, शीतली, भ्रामरी व ध्यान का अभ्यास करवाते हुए संकल्प व शांति पाठ करवाया गया।
श्रीमति पूनम बिमरा ने कहा कि ये प्रशिक्षण कार्यक्रम श्रृंखलाबद्ध तरीके से 20 जून तक चलेंगे जिसमें कोई भी शहरवासी शामिल हो सकता है। उन्होंने बताया कि योगाभ्यास करते समय शांत वातावरण में आराम के साथ शरीर एवं मन को शिथिल किया जाना आवश्यक है। उन्होंने यह भी बताया कि योगाभ्यास खाली पेट अथवा अल्पाहार लेकर करना चाहिए। हमे गर्व होना चाहिए कि योग की खोज सबसे पहले हमारे देश में हुई। योग भारत की प्राचीन पद्धति है और महर्षि पंतजलि ने योग को ‘योगदर्शन’ के रूप में सूत्रबद्ध किया है। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन योग करने वाला व्यक्ति सदैव निरोग रहता है। योग तनाव से मुक्त रखता है। योग करने से मानसिक और बौद्धिक विकास भी होता है।