Breaking News देश राज्य होम

गुरुग्राम: स्कूल पुनर्निर्माण से डीएलएफ फाउंडेशन ने लौटाई बच्चों की मुस्कान 

स्कूल पुनर्निर्माण से डीएलएफ फाउंडेशन ने लौटाई बच्चों की मुस्कान 

  • डीएलएफ फाउंडेशन ने गुरुग्राम सेक्टर 86 के निकट बड़ा स्कूल का किया पुनर्निर्माण
  • साथ ही मेवका गाँव में एक सड़क का पुनर्निर्माण कर पहुंचाई 1800 लोगों को राहत

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम: डीएलएफ फाउंडेशन का मिशन अपने बहुमुखी शिक्षा, स्वास्थ्य और कौशल विकास कार्यक्रमों द्वारा समाज के वंचित समुदाय को सशक्त करना और आजीविका के साधनों का विकास कर उनके जीवन स्तर को बेहतर बनाना है| अपनी इसी पहल को आगे बढ़ाते हुए डीएलएफ फाउंडेशन ने गुरुग्राम के बड़ा गाँव स्थित माध्यमिक विद्यालय और मेवका को जोड़ने वाली सड़क का पुनर्निर्माण कर एक मिसाल पेश किया है|

बड़ा स्कूल गुरुग्राम के सेक्टर 86 के निकट स्थित है| वर्तमान में स्कूल में 150 बच्चे हैं लेकिन मूलभूत सुविधाओं के आभाव के कारण बच्चों की उपस्थिति लगातार कम होती जा रही थी| सड़क के बीचोंबीच स्कूल स्थित होने के कारण बच्चे दुसरे गाँव के विद्यालयों और निजी विद्यालयों में दाखिला लेने लगे थे|

डीएलएफ फाउंडेशन ने स्कूल की स्थिति सुधारने व बच्चों को गाँव में ही शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु सड़क के बीच आ रहे आठ कक्षाओं को तोड़ कर उसी क्षमता के चार नए कक्षाओं का निर्माण किया है|

इस पहल पर डॉ. विनय साहनी, सीईओ, डीएलएफ फाउंडेशन ने कहा, “एक संस्था के तौर पर हम इसे अपनी नैतिक जिम्मेदारी मानते हैं ताकि हम प्रत्येक बच्चे को एक बेहतर वातावरण में शिक्षा उपलब्ध करवाएं| डीएलएफ फाउंडेशन ने हमेशा वंचितों के लिए बुनियादी सुविधा और संसाधन उपलब्ध करवाने के लिए आगे बढ़ कर काम किया है| हम खुश हैं कि हमारे प्रयासों की वजह से इन बच्चों के जीवन में एक महत्वपूर्ण बदलाव आया है|”

आठ पुरानी जर्जर कक्षाओं को तोड़ कर चार कक्षाओं के अतिरिक्त नए डिजाईन के अनुसार स्वच्छ शौचालयों का भी निर्माण किया गया है| ये निर्माण कार्य एक दो-मंजिला मकान के डिजाईन के अनुरूप किया गया है|

रोहित, बड़ा स्कूल के एक विद्यार्थी ने कहा, “नयी कक्षाएं काफी आरामदायक व साफ़-सुथरी हैं| हम खुश हैं कि ये कक्षाएं दुबारा बनायीं गयी हैं अन्यथा हमें दुसरे स्कूलों में दाखिला लेना पड़ता|”

1800 लोगों की जनसँख्या वाले मेवका गाँव के लोग खराब सड़क की वजह से काफी परेशानी का सामना करते आ रहे थे| बारिश के मौसम में जल-जमाव के कारण इस सड़क पर लोगों, मवेशियों या गाड़ियों का परिचालन बहुत ही मुश्किल था| इस सड़क पर स्ट्रीट-लाइट भी नहीं था जिस वजह से रात को यहाँ से गुजरना कठिन था| इसलिए डीएलएफ फाउंडेशन ने आगे बढ़कर 675 मीटर के कंक्रीट सड़क और उसके एक ओर 4.5 मीटर चौड़े नाले का पुनर्निर्माण किया|इसके अलावा डीएलएफ फाउंडेशन ने यहाँ 25 नए सोलर लाइट भी लगाये|

एक ग्रामीण सुरेश कुमार ने कहा, “रोजाना का आना जाना हमारे लिए मुश्किल हो गया था| हल्की बारिश के बाद यह स्थिति और बेकार हो जाती थी, हम रात को ये रास्ता लेने से डरते थे| हम डीएलएफ फाउंडेशन के शुक्रगुज़ार हैं कि उन्होंने ये रास्ता ठीक करवाया और सोलर लाइट लगवाए, यह हमारी रोजाना की परेशानी को हल कर देगा|”