Breaking News देश राज्य होम

वोट की कटी फसल और किसान की  खरीद साइट बंद

वोट की कटी फसल और किसान की  खरीद साइट बंद
शुक्रवार को सरसों खरीद नहीं होने पर किया था रोड जाम
सोमवार को पटौदी लघु सचिवालय पर किसानों का प्रदर्शन

 

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम/पटौदी। वोट की फसल की लावणी (पोलिंग) के बाद बिना समय गंवाये चुनाव लडऩे वाले भावी सांसद अपना-अपना हार-जीत का गणित लगाते , अपने पक्ष में वोट का आंकड़ा जुटाने में जुट गए हैं। इसके विपरीत सरसों उत्पादक किसान अपनी उपज फसल की सरकारी खरीद नहीं होने से परेशान हैं। शुक्रवार को किसानों के द्वारा जाटौली अनाजमंडी में सरसों की खरीद नहीं होने से पटौदी-कुलाना सडक़ मार्ग को करीब पांच घंटे तक जाम किये रखा और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। वाहनों के आवागमन के रूट को बदलकर पुलिस ने जाम को बेकाबू होने से बचा लिया, मौके पर पहुंचे तहसीलदार रविंद्र मलिक और पटौदी थाना प्रभारी ने उच्चाधिकारियों के हवाले से किसानों को आश्वासन दिया कि सोमवार को सरसों की खरीद की जाएगी।
सोमवार को भी सरसों की खरीद नहीं होने का मामला भारतीय किसान संघ के प्रदेशाध्यक्ष के संज्ञान में  लाया गया। इसके बाद में पीडि़त अज्ञैर प्रभावित किसान , किसान नेता ओम सिंह और एंटी करप्शन फाउंडेशन के राष्ट्रीय निदेशक सुरेंद्र के साथ जाटौली अनाजमंडी से ही पैदल चलकर नारेबाजी करते हुए पटौदी लघु सचिवालय पहुंचे। यहां मालूम हुआ कि, चुनाव में डयूटी के कारण तहसील के और मार्केटिंग बोर्ड के अधिकांश अधिकारी/कर्मचारी छुट्टी पर हैं। इससे किसानों का गुस्सा और भी भडक़ गया तथा वहीं लघु सचिवालय में सरसों खरीद के लिए झूठा आश्वासन देने वाले अधिकारियों सहित सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस मौके पर पंचगांव के मुख्तयार सिंह, सिधरावली के राकेश, मनोज, महिपाल, रामोतार, राठीवास के संदीप, नरसिंह, जय भगवान, बिलासपुर के जीत सिंह, रामफल, रमेश, पड़ासौली के इंद्रपाल, वेद प्रकाश, हंसराज, कपिल, रामकृष्ण, बिनौला के बहादुर, राम कुमार, बोहड़ाखुर्द के चरण सिंह, धर्म सिंह, मनजीत, जयपाल सहित अन्य भी मौजूद रहे। किसानों का कहना था कि , नेताओं ने अपने लिए वोट हथियाने के लिए बार-बार भरोसा दिलाया, सरकार ने भी दावा किया कि किसानों की सरसों का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। शुक्रवार को अधिकारियों ने भी किसानों के बीच वादा किया था कि, जिन किसानों की एक बार भी सरसों की खरीद नहीं की गई सोमवार को खरीद शुरू हो जाएगी। लेकिन वादा करके अब कोई भी सामने नहीं आ रहा है। किसानों ने आरोप लगाया कि सरकार की नीयत में खोट आ गया है और अब किसानों को अपनी उपज औने-पौने दाम पर बेचने के लिए मजबूर किया जा रहा है।
 
गेट पास बनने हो गए बंद
पटौदी मार्केट कमेटी के अधिाकारी सत प्रकाश के मुताबिक मार्केटिंग बोर्ड की साइट ही काम नहीं कर रही है। खरीद के लिए  किसानों का आनलाइन रजिस्ट्रेशन के साथ ही आन लाइन ही गेट पास भी बनता है। गेट पास बनने के बाद में संबंधित किसान की सरसों की खरीद की जा रही है। एेसे में बिना गेट पास के किसान की फसल की खरीद किया जाना संभव नहीं है। इस बारे में उच्चाधिकारियों को भी अवगत करा दिया गया है।