Breaking News देश राज्य होम

गुरू-जल प्रोजैक्ट को फंडिंग करने के लिए हीरो मोटोकाॅर्प के डायरेक्टर सीएसआर विजय सेठी के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर 

गुरू-जल प्रोजैक्ट को फंडिंग करने के लिए हीरो मोटोकाॅर्प के डायरेक्टर सीएसआर विजय सेठी के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर 

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम। गुरूग्राम के उपायुक्त अमित खत्री ने आज सीएसआर के तहत गुरू-जल प्रोजैक्ट को फंडिंग करने के लिए हीरो मोटोकाॅर्प के डायरेक्टर सीएसआर विजय सेठी के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए।
उपायुक्त ने बताया कि गुरूग्राम जिला में भू-जल स्तर गिरने, पानी की कमी तथा बाढ़ जैसी समस्याओं का समाधान करने और पानी की मिस-मैनेजमंेट को रोकने के उद्देश्य से गुरू-जल प्रोजैक्ट शुरू किया गया है। इस प्रोजैक्ट के तहत जिला में पानी के कु-प्रबंधन तथा कमी के कारणों का अध्ययन करके उसका डेटा तैयार किया जाएगा और इसके लिए समाधान तलाशा जाएगा। प्रोजैक्ट के तहत जल संरक्षण की योजनाओं का समयबद्ध तरीके से क्रियान्वयन तथा मोनिटरिंग की जाएगी और गुरूग्राम को भारत का पहला ‘वाटर कोन्सियस डिस्ट्रिक्ट‘ (पानी के प्रति जागरूक जिला) बनाया जाएगा। इसके लिए ही आज हीरो मोटोकाॅर्प के साथ सीएसआर के तहत एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए हैं ताकि सभी सरकारी विभाग अपने एकजुट प्रयासों के साथ काॅर्पोरेट व गैर सरकारी संस्थाओं को साथ लेकर गुरूग्राम जिला में पानी का सही ढंग से प्रबंधन कर सकें।
उन्होंने बताया कि इस प्रोजैक्ट के तहत सभी सरकारी, काॅर्पोरेट तथा गैर सरकारी संस्थाओं द्वारा सन् 1980 से लेकर अब तक किए गए उपायांे तथा पहलों का अध्ययन भी किया जाएगा। पानी की स्थिति सुधारने और बेहत्तर जल प्रबंधन के लिए जरूरत हुई तो संबधित ऐजेंसी को प्रशिक्षण आदि भी दिया जा सकता है। श्री खत्री ने एमओयू के लक्ष्य तथा उद्देश्यों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि गुरूग्राम जिला में पानी के प्रबंधन के लिए प्रोजैक्ट मैनेजमेंट युनिट बनाई जाएगी जो प्रोजैक्ट के उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए काम करेगी। इस दिशा में नगर निगम, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी, जीएमडीए, राजस्व विभाग तथा हरसैक आदि विभागों से भी सहयोग लिया जाएगा। इसके अलावा रमाकांत मुंजाल फाउंडेशन की सहयोगी हीरो मोटोकाॅर्प कंपनी भी प्रोजैक्ट को सीएसआर के तहत फंडिंग करके अपना सहयोग देगी। एमओयू 1 मई 2019 से दो साल तक के लिए किया गया है।