Breaking News देश राज्य होम

डा.अंबेडकर की जयंती पर गढ़ी नत्थेखा में शोभा यात्रा निकाली 

डा.अंबेडकर की जयंती पर गढ़ी नत्थेखा में शोभा यात्रा निकाली 
केक काट कर उनके दिखाये मार्ग पर चलने की शपथ ली
शिक्षित समाज ही देश की उन्नति के मार्ग  खोलता है
एकजुटता और संर्घष से बड़ी से विपत्ति को हल

 

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम ।  फर्रुखनगर खंड के गांव गढ़ीनत्थे खां में ग्रामीणों के सहयोग से भीम संघर्ष समिति के तत्वाधान में संविधान रचियता एंव भारत रत्न डा. भीम राव अम्बेडकर की 128वीं जयंती के अवसर पर उनके चित्र पर पुष्प माल्यार्पण करने के उपरांत शोभा यात्रा निकाली तथा केक काट कर उनके दिखाये मार्ग पर चलने की शपथ ली।
इस अवसर पर दिल्ली पुलिस के पूर्व अधिकारी सुखबीर तंवर ने कहा कि बाबा सहाब डा. भीम राव अंबेडकर ने समाज को एक जूट होकर संर्घष करने और शिक्षित समाज की रचना करने का मूलमंत्र दिया था। उन्होंने कहा कि शिक्षा ही वह सबसे बड़ा शस्त्र है जिसके दम पर अपने अपने अधिकारों को अच्छी प्रकार से सुरक्षित रख सकते हैं। शिक्षित समाज ही देश उन्नति के मार्ग  खोलता है। इसलिए सभी को बाद सहाब के दिखाये  मार्ग पर चलने की आवश्यकता है। आपसी एकजुटता और संर्घष से बड़ी से विपत्ति को हल किया जा सकता है। देश व समाज को बिखरने से बचाया जा सकता है।
वहीं गांव खेडा खुर्रमपुर, फर्रुखनगर, चांदनगर ढ़ाणी में भी बाबा सहाब की जयंती धूमधाम से मनाई गई।  इस मौके पर पूर्व सरपंच रोहताश चौधरी, ताराचंद, हरीकिशन, कुलदीप, तरुण, धीरज, सचिन, पंकज तंवर, नवल सिंह, राजेश, जोगिंद्र ,सरपंच राम निवास, भीम सिंह सारवान, बनवारी लाल, सुरेंद्र सिंह, सरपंच विनोद कुमार, राम किशन, राजसिंह, रूप सिंह, जगदीश, गुरुचरण सिंह, भगवती चरण, लम्बरदार रोहताश चौधरी, अनिल बरहेडा, पूर्ण सिंह सारवान, शिवनारायाण प्रजापति, सोनी प्रजापति आदि सैंकड़ों महिला पुरुषों ने भाग लिया।