Breaking News देश राजनीती राज्य होम

कानूनों के अनुरूप 31 मार्च के बाद अपनी रिटर्न भरता है तो उसे जुर्माना चुकाना होगा

कानूनों के अनुरूप 31 मार्च के बाद अपनी रिटर्न भरता है तो उसे जुर्माना चुकाना होगा

रिपोर्टर मधु खत्री फरीदाबाद India now24
फरीदाबाद इंकम टैक्स नियमों के नए कानूनों के अनुरूप 31 मार्च 2019 के बाद से कोई भी व्यक्ति अथवा संस्थान अपने पिछले साल की आयकर रिटर्न नहीं भर सकेगा। यदि वह इस तिथि के बाद अपनी रिटर्न भरता है तो उसे जुर्माना चुकाना होगा। यह जानकारी फरीदाबाद के सहायक आयकर आयुक्त आदित्य प्रकाश भारद्वाज ने व्यापार मंडल के कार्यालय में आयोजित व्यापारियों को संबोधित करते हुए दी।
बैठक की अध्यक्षता व्यापार मंडल के प्रधान जगदीश भाटिया ने की। इस अवसर पर इंकम टैक्स अधिकारी योगराज, प्रतिंद्र मलिक, फरीदाबाद इंकम टैक्स बार एसोसिएशन के प्रधान तेजेंद्र भारद्वाज , सचिव शिव भारद्वाज एवं आर के मल्होत्रा एडवोकेट मुख्य रूप से उपस्थित थे।
व्यापारियों को संबोधित करते हुए सहायक आयकर आयुक्त भारद्वाज ने कहा कि इससे पहले आयकर विभाग में अनेक प्रकार के कानून थे, जिसका लाभ लोग आसानी से उठा लेते थे। पंरतु वह खिडक़ी अब बंद हो चुकी है। इसलिए लोगों को भी इस दिशा में जागरूक होकर अपने सभी टैक्स चुकाकर देश के विकास में योगदान देने के लिए आगे आना चाहिए।
उन्होंने बताया कि जनवरी महीने से लेकर अब तक विभाग ने करीब 46 स्थानों पर आयकर सर्वे किया है, इस दौरान उनकी जानकारी में यह बात आई है कि जो जानकारी उन्हें मिलती है, सर्वे के दौरान वह अलग होती हैं। पहले उनकी जानकारी के मुख्य स्त्रोत अपने सूत्र व बैंक होता था। बैंक के जरिए लोग जो भी लेनदेन करते हैं तथा एफ.डी. सहित अन्य प्रकार से पंूजी का निवेश करते हैं, वह सभी जानकारियां उनके पास पहुंच जाती हैं।
श्री भारद्वाज के अनुसार अब समय बदल रहा है तो आयकर विभाग भी नई तकनीक से लोगों की जानकारियां जुटाने में जुट गया है। अब आयकर विभाग को सोशल मीडिया व उनके फोन नंबर के माध्यम से भी बड़ी व महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल होने लगी हैं। लोग जहां भी किसी तरह का निवेश करते हैं, वहां फोन नंबर अवश्य देना पड़ता है। इस फोन नंबर के माध्यम से ही आयकर विभाग के सामने बड़े बड़े मामले पकड़ में आ जाते हैं। इसलिए उनकी सभी से अपील है कि वह समय पर अपने आयकर का भुगतान करें और छिपने के रास्ते तलाश करने की कोशिश ना करें। यह कोशिश अब बेकार साबित होने लगी है, क्योंकि विभाग ने कई नए कानून बनाकर चोर दरवाजे बंद कर दिए हैं। उनके अनुसार वह स्कूल कॉलेजों में भी जाकर बच्चों से बात करते हैं और उन्हें प्रेरित करते हैं कि वह अपने परिजनों से टैक्स भरने के लिए कहें।
इस अवसर पर व्यापारियों ने उन्हें हरसंभव सहयोग देने का आश्वासन दिया। बैठक में पहुंचने पर व्यापार मंडल के प्रधान जगदीश भाटिया , महासचिव वेदप्रकाश कुकरेजा, हरीश सेठी, बंसी कुकरेजा, जगनशाह, सीपी कालड़ा, राममेहर, राजेश दुआ, नेतराम गांधी, बीएन मिश्रा, हरीश भाटिया, अजय ने चुन्नीलाल सहायक आयकर आयुक्त आदित्य प्रकाश भारद्वाज का फू लों का बुक्के देकर स्वागत किया।