Breaking News देश राज्य होम

जर्जर तारो को बदलने की शुरूआत

जर्जर तारो को बदलने की शुरूआत

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

बिजली निगम ने सोहना शहरी क्षेत्र में लाइनों पर लटकी पुरानी जर्जर तारों को बदलने शुरू कर दिया है। ताकि गर्मी के मौसम में उपभोक्ताओं को बिना कट बिजली की सप्लाई मिल सके।

बिजनी निगम ने सोहना शहरी क्षेत्र में अपने करीब 15 हजार उपभोक्ताओं को गर्मी के मौसम में बिना कट सप्लाई देने के लिए कमर कस ली है। बिजली निगम ने शहरी क्षेत्र में आने वाले करीब आधा दर्जन वार्डों में रहने वाले उपभोक्ताओं को अब पूरे 24 घंटे बिजली की सप्लाई देने की योजना को अमलीजामा पहनाना आरंभ कर दिया है। निगम शहर के सभी चार फिडरों पर लटकी पुरानी और जर्जर तारों को केवल में बदलने के लिए नौ करोड़ रुपये का ठेका दिया है। जो अप्रैल माह से दूसरे सप्ताह तक पूरा कर लिया जाएगा।

जर्जर तारों से आए दिन बिजली कट

शहर के वार्ड नंबर 4,6,8,9,10,12,13,14 से लेकर 20 वार्ड में रहने वाले उपभोक्ताओं को आए दिन बिजली की लाइनों पर लटकी जर्जर तारों के टूटने से लंबे कटो का सामना करना पड़ रहा था। उपभोक्ता ज्ञानचंद का कहना है कि एक बार लाइन से तार टूटने पर कम से कम दो व अधिक से अधिक चार घंटे तक लाइन ब्रेक रहती है। पुरानी तारें कब जमीन पर लाइन से टूटकर गिर जाए। कुछ नहीं कहा जा सकता। प्रेमवती का कहना है कि रात के समय तार लाइन से टूटने पर सुबह पानी की सप्लाई तक नहीं होती है।

क्या कहना है एसडीओ का

बिजली निगम के स्थानीय एसडीओ सुरेन्द्र बैेंनवाल का कहना है कि ग्रामीण क्षेत्र के सभी फिडरों को तारों से मुक्ती दिला दी है। अब शहरी क्षेत्र को तार वाली बिजली की लाइनों से मुक्ती दिलानी है। शहर की सभी तारों केा बदलने के लिए 9 करोड़ रुपये का ठेका दिया गया हैं। जो अप्रैल माह के दूसरे सप्ताह तक पूरा कर लिया जाएगा। ताकि शहरी उपभोक्ताओं को भी पूरे 24 घंटे बिना किसी कट के सप्लाई मिल सके।