Breaking News देश राज्य होम

हरियाणा मानवाधिकार आयोग के पास 60 फीसदी शिकायतें पुलिस के खिलाफ

हरियाणा मानवाधिकार आयोग के पास 60 फीसदी शिकायतें पुलिस के खिलाफ

– आयोग की अदालत में 18 केसों की सुनवाई, एक का निपटारा

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम। हरियाणा मानवाधिकार आयोग के समक्ष सबसे अधिक शिकायतें पुलिस के खिलाफ आ रही हैं। आयोग के पास अकेले पुलिस के खिलाफ ही 60 फीसदी शिकायतें हैं। इससे साफ है कि पुलिस द्वारा जनता को किस तरह से परेशान किया जा रहा है। लोगों को अधिकारियों के दरबार में जब न्याय नहीं मिल पाता तो वे अब मानवाधिकार आयोग के पास अपना दुखड़ा लेकर पहुंच रहे हैं।

हरियाणा मानवाधिकार आयोग की अदालत में सोमवार को केसों की सुनवाई की। आयोग की कोर्ट में 18 मामले रखे गए थे, जिनमें से एक का निपटारा किया गया।आयोग को अब तक प्राप्त शिकायतों में 60 प्रतिशत शिकायतें पुलिस विभाग से संबंधित हैं। सुनवाई के दौरान आयोग के पास छह नए मामले भी आए हैं, जिन्हें सुनवाई के लिए तारीख दी गई है। आयोग के सचिव एससी गोयल के मुताबिक हरियाणा मानव अधिकार आयोग की सुनवाई आयोग के ज्यूडिशियल सदस्य जस्टिस (सेवानिवृत) केसी पुरी द्वारा की गई थी। इस सुनवाई में 18 मामले रखे गए और छह मामले सोमवार को नए आए हैं। उन्होंने बताया कि आज की सुनवाई में महेन्द्रगढ़ जिला का पुलिस से संबंधित एक मामले का निपटारा भी किया गया है। हरियाणा मानव अधिकार आयोग का फ्रंट कार्यालय गुरुग्राम के नए लोक निर्माण विश्राम गृह में हरेरा कोर्ट के पीछे सी-ब्लॉक में बनाया गया है। आयोग का कार्यालय विश्राम गृह के सी-ब्लॉक के प्रथम स्थल पर कमरा नंबर 263-264 में स्थापित है। दक्षिणी हरियाणा के जिलों के लिए आयोग द्वारा यहांं यह कार्यालय स्थापित किया गया है, ताकि शिकायतकर्ताओं को सुनवाई के लिए चण्डीगढ़ मुख्यालय ना जाना पड़े। आयोग ने निण्रय लिया है कि महीने में दो बार सोमवार अथवा शुक्रवार को गुरूग्राम में सुनवाई की जाएगी। श्री गोयल के अनुसार सरकारी विभागों में मानव अधिकार के उल्लंघन की शिकायत हरियाणा मानव अधिकार आयोग के पास  की जा सकती है। उन्होंने बताया कि शिकायत यहां के नए पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में स्थित कार्यालय में भी जा सकती है। उन्होंने यह भी बताया कि गुरुग्राम में आयोग की अगली सुनवाई 22 फरवरी को होगी। आयोग द्वारा यहां पर सुनवाई के लिए 11 मार्च और 29 मार्च की तिथियां भी निर्धारित की गई हैं।