Breaking News देश राजनीती राज्य होम

बेरोज़गारी दूर करने का वादा वफ़ा न कर सके खटटर-वशिष्ट गोयल

बेरोज़गारी दूर करने का वादा वफ़ा न कर सके खटटर-वशिष्ट गोयल
कर्मचारिओ को किया जा रहा नोकरियों से बेदखल।

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम  नव जन चेतना मंच के संयोजक वशिष्ट कुमार गोयल ने कहा कि राज्य के बेरोजगारो को नोकरी देने का वादा कर सत्ता में आई खट्टर सरकार राज्य के बेरोजगारो को नौकरियां देने की जगह उल्टे सरकार नगर निगम गुरूग्राम में आउट सोर्स पॉलिसी के तहत लगे 70 कर्मचारियों को नोकरियों से बेदखल करके बेरोजगार करने पर तुली है और पूछे जाने पर अधिकारियों द्वारा इसकी वजह तय सीमा से अधिक कर्मचारियों की नियुक्ति बताया जा रहा है।यदि ऐसा है तो इसमें निकाले जा रहे कर्मचारियों की क्या गलती है।कई वर्षों से यहाँ कार्यरत कर्मचारियों में बहुत से ऐसे भी हैं जो सरकारी नोकरियों के लिए वांछित उम्र भी पार कर चुके हैं। ऐसे में वो किसी दूसरी सरकारी नोकरी के लिए आवेदन भी नही कर सकते। सरकार को चाहिए कि निकाले जाने वाले इन लोगों को बेरोज़गार करने की जगह इनकी सेवाओं को किसी दूसरे विभाग में समायोजित किया जाए।यदि ये संभव नहीं है तो इन्हें नोकरी से बेदखल करने से पहले इनके द्वारा दी गईं सेवा अवधी के बराबर सरकारी नौकरी की आयु सीमा में छूट दी जाए ताकि वो उसके लिए आवेदन कर सके।
   गोयल ने आगे कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एन एच एम )के सैंकड़ों कर्मचारी और आँगन वाड़ी वर्कर्स भी अपनी माँगों के पूरा न होने पर काफी दिनों से लंबी हड़ताल पर चल रहे हैं।उनकी मांगें पूरी करना तो दूर उल्टे उन्हें नोकरी से निकाले जाने के नोटिस भी हाल ही मैं दिए गए हैं और उसपे जुल्म ये की सरकार या उसके अधिकारियो पर इनसे जाकर बात करके कोई बीच का रास्ता निकालने तक का समय भी नही है।
        गोयल के अनुसार इन एन. एच. एम.वर्कर्स की हड़ताल का असर सीधे तौर पर बीमारी से झूझ रहे ग़रीब मरीज़ो और उनके तीमारदारों पर पड़ रहा है जो सरकारी इलाज नही मिल पाने के कारण प्राइवेट हस्पतालों में मंहगा इलाज करवाने पर मजबूर हैं और इसके उलट राज्य की जुमलेबाज़ भाजपा सरकार को ये चिंता है कि राज्य में दुबारा सत्ता कैसे कब्जाई जाये।
      गोयल ने नगर निगम से निकाले जा रहे कर्मचारियों और हड़ताल पर चल रहे एन.एच. एम. और आँगन वाड़ी वर्कर्स की मांगों का समर्थन करते हुए आश्वासन दिया कि इंसाफ मिलने तक नव जन चेतना मंच उनके न्याय, सुरक्षा और सम्मान की इस लड़ाई में उनके साथ है।