Breaking News देश राज्य होम

गुरुग्राम में ‘राष्ट्रीय ब्राह्मण सम्मेलन’ का भव्य आयोजन

गुरुग्राम में राष्ट्रीय ब्राह्मण सम्मेलन’ का भव्य आयोजन

– गुरुग्राम में विश्व ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय मुख्यालय के निर्माण के लिए भूमि का अनुरोध सिद्धांत रूप में रामबिलास शर्मा द्वारा स्वीकार किया गया साथ ही राज्य में ब्राह्मण कल्याण बोर्ड का गठन भी

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरुग्राम: आज गुरुग्राम सेक्टर 29 स्थित किंगडम ऑफ ड्रीम्स ऑडोटोरियम में  ‘सन्मार्ग’ वर्ल्ड ब्राह्मण फेडरेशन इंडिया द्वारा ‘राष्ट्रीय ब्राह्मण सम्मेलन’ का आयोजन किया गया| सम्मेलन का उद्देश्य राष्ट्रिय अखंडता के सिद्धांतो को प्रतिपादित करना एवं समाज में एकजुटता लाना है|  इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद पंडित कलराज मिश्र,  संस्कृति एवं पर्यावरण मंत्री, भारत सरकार डॉ. महेश शर्मा एवं सांसद रमेश कौशिक, हरियाणा के शिक्षा एव पर्यटन मंत्री रामबिलास शर्मा मौजूद थे|

सम्मेलन की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन और गणेश वंदना के साथ की गई | ‘सन्मार्ग’ वर्ल्ड ब्राह्मण फेडरेशन इंडिया के चेयरमैन पं मांगेराम शर्मा, अध्यक्ष पं आर.एस.गोस्वामी,महासचिव पं शशिकांत शर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष के.सी पाण्डेय, उपाध्यक्ष पं रविकांत शर्मा, पं राकेश स्वामी और पं राजेश कौशिक उपस्थित रहे | इस सम्मेलन में भारत और देश के विभिन्न प्रान्तों से लगभग 2000 ब्राह्मण प्रतिनिधियों ने सहभागिता की।

प्रमुख वक्ता संस्कृति एवं पर्यावरण मंत्री, भारत सरकार डॉ. महेश शर्मा ने कहा “ये जरूरी नहीं है की हमने विरासत में क्या पाया बल्कि ये जरूरी है की हम विरासत में क्या छोड़ते हैं| हम अपने समाज को उत्तरोत्तर प्रगति की दिशा में ले जाने के लिए कटिबद्ध हैं ”|इस तरह के आयोजनों की महत्ता पे बात करते हुए श्री शर्मा ने आगे कहा की, “ मैं श्री मांगेराम शर्मा जी का ऐसा कार्यक्रम आयोजित करवाने के लिए आभारी हूँ|”

‘सन्मार्ग’ वर्ल्ड ब्राह्मण फेडरेशन इंडिया के चेयरमैन पं मांगेराम शर्मा ने कहा “हम आदरणीय मंत्रियों, सांसदों एवं अन्य गणमान्यों के आगमन से अति प्रसन्न हैं| मैं माननीय महेश शर्मा जी एवं हरियाणा सरकार से संबद्ध श्री रामबिलास जी से आग्रह करता हूँ की वो हमे हमारी संस्था के मुख्यालय की स्थापना हेतु गुरुग्राम में जमीन आवंटित करें| हम उम्मीद करते है की हमारी अन्य मांगो पर भी सरकार ध्यान देगी और अगली कैबिनेट बैठक में उन पर चर्चा करेगी|”

संघ की मांगों को मानते हुए श्री रामबिलास शर्मा, शिक्षा एवं पर्यटन मंत्री, हरियाणा सरकार ने कहा की, “हम प्रसन्न हैं की पंडित मांगेराम शर्मा जी ने इस अधिवेशन के लिए गुरुग्राम का चुनाव किया| हम गुरुग्राम में विश्व ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय मुख्यालय के निर्माण के लिए भूमि का अनुरोध सिद्धांत रूप से मान रहे हैं और साथ ही राज्य में ब्राह्मण कल्याण बोर्ड का गठन करने का भी आश्वासन दे रहे हैं|”

सम्मेलन में मंत्रियों के अलावा जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, असम, तेलंगाना सहित और अन्य राज्यों से आए हुये ब्राह्मण प्रतिनिधियों ने विभिन्न मुद्दों पर अपनी विचार और मांगे रखी|

‘सन्मार्ग’ वर्ल्ड ब्राह्मण फेडरेशन इंडिया द्वारा द्वारा तीन प्रस्ताव किए गए जो निम्नलिखित है:

(1)        राजनैतिक:ब्राह्मणो की भारतीय सांसद एव विधान सभाओं मे चुनकर आए हुये ब्राह्मणो की गिरती हुई संख्या पर चिंता व्यक्त की गई | ये बताया गया की आजादी के बाद हुए पहले लोक सभा चुनाव में लोक सभा चुनाव 1952 मे जहां125 ब्राह्मण सांसद चुन कर आए थे उनकी संख्या गिरकर आज 2014 की लोक सभा में 50 से भी नीचे रह गई है |अतः ब्राह्मणो की भागीदारी को बढ़ाने के लिए  ब्राह्मणों का स्तर ग्राम, ब्लॉक, जीला स्तर से लेकर एमएलए तक बढ़ाने को लेकर काम करने की जरूरत है | हर प्रदेश की कार्यकारिणी से अनुरोध किया गया की भविष्य के नेताओं की खोज की जाए और योग्य युवाओं को चिन्हित कर और उन्हे मार्गदर्शन प्रदान कर उन्हे राजनीति में आगे बढ़ाने के लिए काम करने की जरूरत है | राजनीतिक पार्टियों में अपने अपने स्तर पर दबाव बनाया जाए ताकी योग्य ब्राह्मणो को टिकट मिल सके|

(2)          आर्थिक: इस प्रस्ताव में देश में बढ़ रही है बेरोजगारी पर चिंता व्यक्त करते हुये और ब्राह्मणो को स्वालंबन एव व्यापार में आगे बढ़ाने पर ज़ोर दिया गया |

(3)          शैक्षिक: इस प्रस्ताव में ‘सन्मार्ग’ वर्ल्ड ब्राह्मण फेडरेशन इंडिया द्वारा ‘सुपर 100’ की पहल की गई | पूरे देश के गरीब ब्राह्मण बच्चे जो आर्थिक रूप कमजोर है |इंजीनियरिंग, मेडिकल और IAS की प्रतियोगिता के लिए चयनित कम से कम हर साल 100 बच्चों को आर्थिक सहायता देकर उनको तैयार किया जाएगा ताकि शिक्षा से भारत वर्ष को उन्नत राष्ट्र बनाया जा सके |

‘सन्मार्ग’ वर्ल्ड ब्राह्मण फेडरेशन इंडिया ने सरकार के सामने निम्नलिखित मांगे रखी है:

  • भारत के प्रत्येक राज्य में ब्राह्मण कल्याण बोर्ड का गठन
  • भारत में आरक्षण आर्थिक आधार पर दिया जाए जाति के आधार पर नहीं
  • राष्ट्रीय स्तर पर श्री परशुराम जयंती का आयोजन हो
  • देश में संस्कार, संस्कृति व संस्कृत के प्रचार प्रसार केन्द्रों की स्थापना हो
  • हर मतदाता को अपने क्षेत्र में चुनाव लड़ने के अधिकार हो
  • मंदिरों में सेवारत ब्राह्मणों/पुजारियों को स्थाई मासिक मानदेय
  • ब्राह्मण समाज के प्रति सार्वजनिक दुष्प्रचार, अभद्र भाषा का प्रयोग करने वालों को कानूनी सजा का प्रावधान
  • देश के हर राज्य के किसी भी जाति के पुरुखों द्वारा ब्राह्मणों को दान मे दी गई संपति का मालिकाना हक दिलाया जाए
  • विश्व ब्राह्मण संघ का राष्ट्रीय मुख्यालय बनाने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा गुरुग्राम में भूमि आवंटित की जाए एवं आंध्र प्रदेश की तरह भव्य भवन का निर्माण कराया जाए।