Breaking News देश राज्य होम

एनसीआरटीसी ने दिल्ली-गुरुग्राम-एसएनबीआरआरटीएस कॉरीडोर पर जियो-टेक्निकल इंवेस्टिगेशन की शुरुआत की

एनसीआरटीसी ने दिल्ली-गुरुग्राम-एसएनबीआरआरटीएस कॉरीडोर पर जियो-टेक्निकल इंवेस्टिगेशन की शुरुआत की

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

एनसीआरटीसी ने दिल्ली-गुरुग्राम-एसएनबी(शाहजहापुर-नीमराना-बेहरोर अर्बन कॉम्प्लेक्स) आरआरटीएस कॉरीडोर पर पूर्व- निर्माण गतिविधि शुरू कर दी है |

एनसीआरटीसी रैपिड रेल ट्रांसिट सिस्टम प्रोजेक्ट को लागू करने के लिए अधिकृत है,जिसने आज दिल्ली-गुरुग्राम-एसएनबी कॉरीडोर पर जियोटेक्निकल जांच शुरू की |

गुरुग्राम में जांच एनसीआरटीसी के वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में किया जा रहा है | जियोटेक्निकल इंवेस्टिगेशन इंजीनियरों द्वारा प्रस्तावित संरचनाओं के लिए मिट्टी और नींव के भौतिक गुणों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए किया जाता है| सचिव, आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय की अध्यक्षता में एनसीआरटीसी बोर्ड द्वारा 6 दिसम्बर 2018 को दिल्ली-गुरुग्राम-एसएनबी कॉरिडोर के डीपीआर को मंजूरी  दी गयी थी|

यह कॉरिडोर दिल्ली-गुरुग्राम-अलवर आरआरटीएस कॉरिडोर का हिस्सा है, इसे तीन स्टेज में पूरा किया जाएगा| ये स्टेज हैं:
·         फेज 1:106 किलोमीटर वाला दिल्ली-गुरुग्राम-एसएनबी अर्बन काम्प्लेक्स तैयार किया जाएगा
·         फेज 2: यह लाइन एसएनबी अर्बन काम्प्लेक्स से आगे सोतानाला तक बढ़ाई जाएगी
·         फेज 3: अंतिम स्टेज में एसएनबी अर्बन काम्प्लेक्स से अलवर तक का निर्माण कार्य किया जाएगा  हाई-स्पीड रेल से 70 मिनट से भी कम समय में सराय काले खां-दिल्ली से एसएनबी के बीच की दूरी को तय किया जा सकेगा | यह एनसीआर के क्षेत्रीय नोड्स को दिल्ली से जोड़ने वाली एक नई, समर्पित, उच्च गति, उच्च क्षमता, आरामदायक कम्यूटर सेवा है