Breaking News देश राज्य होम

1 से 19 वर्ष तक के बच्चों को 8 फरवरी को पेट के कीडे़ मारने की दवा स्कूलों तथा आंगनबाड़ी केंद्रों में खिलाई जाएगी

1 से 19 वर्ष तक के बच्चों को 8 फरवरी को पेट के कीडे़ मारने की दवा स्कूलों तथा आंगनबाड़ी केंद्रों में खिलाई जाएगी

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम । जिला में 1 से 19 वर्ष तक के बच्चों को आगामी 8 फरवरी को पेट के कीडे़ मारने की दवा स्कूलों तथा आंगनबाड़ी केंद्रों में खिलाई जाएगी। इसके लिए जिला में तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला के सिविल सर्जन डा. बी के राजौरा ने बताया कि 8 फरवरी को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस ( नेशनल डी वोर्मिंग डे) है, इसलिए उस दिन जिला के सभी स्कूलों तथा आंगनबाड़ी केंद्रों में 1 से 19 वर्ष तक के सभी बच्चों को पेट के कीड़े मारने की अलबेंडाजोल टैबलेट खिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि यह टैबलेट बच्चों के लिए पूर्ण रूप से सुरक्षित है, इसका कोई साईड इफेक्ट नहीं होता। उन्होंने कहा कि सरकार ने बच्चों का स्वास्थ्य ठीक रखने के लिए उनकों पेट के कीड़े मारने की दवा खिलाने का अभियान शुरू किया है। अभियान के अंतर्गत साल में दो बार – फरवरी और अगस् में बच्चों को आंगनबाड़ी केंद्रों तथा स्कूलों के माध्यम से अलबेंडाजोल की दवा खिलाई जाती है।
उन्होंने बताया कि इस जिला में सरकारी स्कूलों के 114531, प्राइवेट स्कूलों के 331049 बच्चों तथा आंगनबाड़ी केंद्रों व स्कूलों में नहीं जाने वाले 103608 बच्चों को यह दवा 8 फरवरी शुक्रवार को खिलाई जाएगी। जिला में 8 फरवरी को 1 से 19 वर्ष के लगभग 549188 बच्चों को पेट के कीड़े मारने की दवा खिलाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके बाद 14 फरवरी को मोप अपडे होगा, जिस दिन उन बच्चों को दवा खिलाई जाएगी जो किसी कारणवश 8 फरवरी को दवा लेने से वंचित रह जाएंेगे। सिविल सर्जन ने जिला में तैनात स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि बच्चों को भूखे पेट गोली ना दी जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि बच्चे घर से खाना खाके आएं।
उन्होंने यह भी कहा कि जो बच्चे खाना खाकर नहीं आएंगे उन्हें स्कूलों तथा आंगनबाड़ी केंद्रों में खाना दिया जाए। उसके बाद बच्चों से कहा जाए कि वे गोली को पहले चबाएं, फिर उपर से पानी पीएं। गोली को पानी के साथ निगलना नही है। बच्चों को अलबेंडाजोल दवा खिलाने के अभियान को लेकर जिला में तैयारियां जोरो पर हैं। पिछले दिनों स्वास्थ्य विभाग की राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की मिशन निदेशक श्रीमति अमनीत पी कुमार ने वीडियांे काॅन्फें्रसिंग के माध्यम से सभी जिलों के सिविल सर्जन, शिक्षा विभाग तथा महिला एवं बाल कल्याण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि वे बच्चों को यह दवा खिलवाने के लिए समुचित प्रबंध करे। इसके बाद जिला के अतिरिक्त उपायुक्त आर के सिंह ने भी अपने कार्यालय में सभी संबंधित अधिकारियों की बैठक बुलाकर उन्हें दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इस अभियान की नोडल अधिकारी उप सिविल सर्जन डा. सुनीता राठी ने बताया कि स्कूलों तथा आंगनबाड़ी कें्रदों में 6 फरवरी बुधवार को बच्चों की संख्या के अनुसार अलबेंडाजोल की दवा भिजवा दी जाएगी। डा. राठी ने बताया कि यह दवा निःशुल्क दी जा रही है।