Breaking News देश राज्य होम

जाटौली में पूर्व सैनिकों का किया गया सम्मान

जाटौली में पूर्व सैनिकों का किया गया सम्मान
पूर्व सैनिकों ने सांझा किये अपने अनुभव, दी प्रेरणा
जाटौली प्रगतिशील संस्था ने किया पहला आयोजन

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

जाटौली/गुरुग्राम। पटौदी सब डिवीजन के हेलीमंडी क्षेत्र का गांव जाटौली भारत-चीन युद्ध के शहीद हीरो ऑफ नेफा शहीद दलीप सिंह और शहीद नेत्रपाल की जन्म भूमि है। विभिन्न सुरक्षा और सैन्य बलों में यहां के बाशिंदे देश की सेवा,सुरक्षा और देशवासियों की रक्षा के लिए सीमांत इलाकों में तैनात हैं। अनेक जांबांज एेसे भी हैं जो कि विभिन्न सैन्य बलों में अपनी सेवाएं देकर अब समाज सेवा में जुटे हैं। 70वें गणतंत्र दिवस के मौके पर एेसे ही पूर्व सैनिकों को सम्मानित किया गया। यह आयोजन जाटौली प्रगतिशील संस्था के द्वारा प्राथमिक पाठशाला जाटौली के प्रांगण में किया गया, और पहली बार ही सार्वजनिक रूप से जाटौली के पूर्व सैनिकों को सम्मानित भी किया गया।
सबसे पहले पूर्व सैनिक अनंगपाल सिंह ने ध्वजा रोहण किया और मौके पर मौजूद छात्रों , अध्यापिकाओं सहित अन्य लोगों ने तिरंगे को सलामी देते हुए राष्ट्रगान गाया। इस मौके पर विभिन्न सैन्य बल के पूर्व सैनिकों बहादुर सिंंह,  नरसिंह पाल चौहान, कमांडर योगेश चौहान, कैप्टन सोमदत, कैप्टन जनक सिंह , बीएसएफ के नत्थूराम, अनुपाल सिंह, राम कुमार को स्मृति चिन्ह और मेडल देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की आयोजक जाटौली प्रगतिशील संस्था के द्वारा बताया गया कि, आज भी यहां के माघवेंद्र चौहान-एडवोकेट जज, आशीष चौहान, मेजर सूर्यकांत, भारत सिंह सहित अन्य सैन्य बलों में कार्यरत हैं। पूर्व सैनिकों ने छात्रों को अपने सेवाकाल के अनुभव बताते हुए थल, जल और वायु सेना की नौकरी को श्रेष्ठ बताते हुए देश सेवा के लिए प्रेरित किया। इस मौके पर सुरेंद्र चौहान, प्रवीन, रवि चौहान , मुख्याधिपिका नीलम, ज्योति, प्रिती के द्वारा स्कूल के पढ़ाई में श्रेष्ठ छात्रों गोपेश्वर, मगन, रिसिता,  अंजली, उदय,  लव, लक्ष्य, भारती व अन्य को पुरस्कार देकर प्रोत्साहित किया गया।