Breaking News देश राज्य होम

निगम क्षेत्र खुले में घूमने वाले पशुओं से मुक्त घोषित होने की कगार पर

निगम क्षेत्र खुले में घूमने वाले पशुओं से मुक्त घोषित होने की कगार पर
–    10 दिसम्बर से अब तक पकड़े गए हैं 870 पशु
–    अभियान में बाधा उत्पन्न करने वालों पर करवाई गई हैं 5 एफआईआर दर्ज
–    पशु मालिकों को पशु खुला ना छोडऩे की दी गई है हिदायत
–    खुले में पशु छोडऩे पर गिरफ्तारी
–    खुले में पशुओं को पकडऩे के लिए रैगुलर दस्ते का किया गया है गठन
–    पशुओं को पकडऩे के लिए दक्ष निजी एजेंसियों को दिया गया है कार्य, प्रति पशु दिए
जा रहे हैं 2000 रूपए

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम| । नगर निगम गुरूग्राम क्षेत्र खुले में घूमने वाले पशुओं से मुक्त घोषित होने की कगार पर है। अभियान के तहत 10 दिसम्बर 2018 से अब तक 870 पशु पकड़े जा चुके हैं। नगर निगम द्वारा करवाए गए सर्वे के अनुसार खुले में घूमने वाले पशुओं की संख्या ना के बराबर है। केवल कुछ पशु पालकों द्वारा ही अपने पशुओं को खुले में छोडऩे संबंधी मामले आ रहे हैं, जिन पर अंकुश लगाने के लिए स्थान चिन्हित करके विशेष टीमों की तैनाती कर दी गई है। इनमें उन स्थानों को चिन्हित किया गया है, जहां पर पशु डेयरियां बहुतायत में हैं। आवारा पशुओं संबंधी शिकायत के लिए सफाई निरीक्षक सुधीर कुमार के मोबाइल नंबर 9821395133 पर संपर्क करें।
नगर निगम आयुक्त यशपाल यादव ने बताया कि खुले में घूमने वाले पशुओं को पकडऩे के दौरान कार्य में बाधा उत्पन्न करने वालों के खिलाफ विभिन्न थानों में 5 एफआईआर दर्ज करवाई गई हैं। इनमें थाना बादशाहपुर में आईपीसी की धारा-148, 149, 186, 332, 353 एवं 506 के तहत एफआईआर नंबर-0484 दिनांक 17.12.2018 दर्ज करवाई गई है। पशु पकडऩे वाली टीम जब बादशाहपुर कम्यूनिटी सैंटर के पास पहुंची तो मोटरसाइकिल नंबर-एचआर-72डी-5638, एचआर-72-8211 एवं बिना नंबर प्लेट दो अन्य मोटरसाईकिलों तथा स्वीफ्ट गाड़ी नंबर एचआर-26-एए-2045 जिसमें रिठौज निवासी मोनू सहित 10-15 व्यक्तियों ने टीम के टीम के साथ गाली-गलौच की तथा लाठी-डंडों एवं पत्थरों से हमला कर दिया। इसमे कई कर्मचारियों को चोटें आई। इसके अलावा, थाना डीएलएफ फेज-2 में एफआईआर नंबर-0458 एससीएसटीएक्ट सहित आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत दर्ज करवाई गई है। इसके अलावा, थाना सैक्टर-37 में कपिल, महीपाल, सुभाष, अमित, विजय, टिल्लू एवं विकास निवासियान हरीनगर के खिलाफ एफआईआर नंबर-0322 दिनांक 25.12.2018, थाना सैक्टर-10 में सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने वाले मोटरसाईकिल नंबर एचआर-26-डीपी-7478, एचआर-26 बीजेड-5608, एचआर 26 डीएस-0825 तथा एचआर 72 बी-9315 से सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने वालों के खिलाफ एफआईआर नंबर-0647 दिनांक 16.12.2018 दर्ज करवाई गई है। न्यू कॉलोनी थाने में 4 जनवरी 2019 को दर्ज करवाई गई एफआईआर नंबर-5 में कार्रवाई करते हुए पुलिस द्वारा रवि नगर निवासी विकास उर्फ विक्की पुत्र विजेन्द्र कुमार को गिरफ्तार करके जेल भी भेजा गया है।

‘सडक़ों, मंडियों तथा सार्वजनिक स्थानों पर खुले में घूमने वाले पशुओं को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पशु मालिक अपने स्वामित्व वाले परिसर में पशुओं को बांधकर रखें तथा पशुओं के लिए पर्याप्त भोजन, पानी और उचित आश्रय की व्यवस्था करें। अगर कोई पशु खुले में घूमता हुआ पाया जाता है, तो पशु को पकडक़र संबंधित मालिक के खिलाफ हरियाणा नगर निगम अधिनियम-1994 की धारा-309, 310 एवं 332 तथा पशु क्रूरता निवारण अधिनियम-1960 के तहत कार्रवाई की जाएगी। इनमें भारी जुर्माने तथा 3 माह के कारावास की सजा का प्रावधान है।’-यशपाल यादव, आयुक्त नगर निगम गुरूग्राम।

‘निगम क्षेत्र को आवारा घूमने वाले पशुओं से मुक्त बनाने के लिए नगर निगम का अभियान लगातार जारी रहेगा क्योंकि एक ओर जहां खुले में घूमने वाले पशु क्षेत्र में गंदगी फैलाते हैं, वहीं दूसरी ओर यातायात को सुचारू रूप से चलने में बाधा डालते हैं। खुले में घूमने वाले पशुओं को पकडऩे के लिए रैगुलर दस्ते का गठन किया गया है तथा दक्ष निजी एजेंसियों को कार्य अलॉट किया गया है, जिन्हें 2000 रूपए प्रति पशु दिए जा रहे हैं। इस कार्य के लिए तीन विशेष पशु पकड़ वैन लगाई गई हैं।’-वाईएस गुप्ता, एडीशनल म्यूनिसिपल कमिशनर नगर निगम गुरूग्राम।

गुरूग्राम। नगर निगम क्षेत्र में खुले में घूमने वाले पशुओं को विशेष अभियान के तहत पकडक़र गायों को जहां कामधनू गौशाला में रखा गया है, वहीं नन्दियों को नन्दीधाम गौशाला में रखा गया है। कामधेनू गौशाला में गायों की बढ़ती संख्या को देखते हुए शनिवार को उन्हें सिलानी गौशाला में स्थानांतरित किया गया है। शनिवार को सिलानी गौशाला में लगभग 100 गायों को स्थानांतरित किया गया।