Breaking News देश राज्य होम

वार्ड कमेटियों, एरिया एवं सब-एरिया कमेटियों के प्रतिनिधियों के साथ पहली बैठक हुई आयोजित

वार्ड कमेटियों, एरिया एवं सब-एरिया कमेटियों के प्रतिनिधियों के साथ पहली बैठक हुई आयोजित
–    मेयर तथा निगमायुक्त ने गुरूग्राम को स्वच्छ, सुंदर एवं बेहतरीन शहर बनाने में
योगदान देने का किया आह्वान
–    निगमायुक्त ने नगर निगम द्वारा किए जा रहे कार्यों तथा नए इनिशिएटिव के बारे
में दी जानकारी
–    स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 में गुरूग्राम को नंबर-1 स्वच्छता रैंकिंग दिलवाने की अपील
की

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

गुरूग्राम, । नगर निगम गुरूग्राम द्वारा गठित की गई वार्ड कमेटियों, एरिया कमेटियों तथा सब-एरिया कमेटियों के प्रतिनिधियों के साथ पहली बैठक आयोजित की गई। सैक्टर-43 स्थित पावरग्रिड के मल्टीपर्पज हॉल में आयोजित इस बैठक में कमेटियों द्वारा किए जाने वाले कार्यों तथा निभाई जाने वाली जिम्मेदारियों के बारे में जानकारी दी गई।
बैठक का शुभारंभ गुरूग्राम की मेयर श्रीमती मधु आजाद, डिप्टी मेयर श्रीमती प्रमिला गजेसिंह कबलाना, डिप्टी मेयर श्रीमती सुनीता यादव, निगमायुक्त यशपाल यादव, एडीशनल म्यूनिसिपल कमिशनर वाईएस गुप्ता, संयुक्त निगमायुक्त विवेक कालिया एवं रविन्द्र यादव द्वारा दीप प्रज्जवलित करके किया गया। बैठक में उपस्थित सभी प्रतिनिधियों को स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 के बारे में जानकारी दी गई तथा स्वच्छता बनाए रखने के लिए अपील की गई। प्रतिनिधियों को नगर निगम की ओर से गीला और सूखा कचरा अलग-अलग करने तथा स्वच्छता के बारे में तैयार करवाए गए पम्पलेट प्रदान किए गए।
मेयर श्रीमती मधु आजाद ने उपस्थित कमेटियों के प्रतिनिधियों से आह्वान किया कि गुरूग्राम हम सभी का शहर है और इसकी बेहतरी के लिए हम सभी की जिम्मेदारी बनती है। हमें अपने शहर को स्वच्छ, सुंदर एवं बेहतर बनाना है तथा भारत सरकार द्वारा किए जाने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 में नंबर-1 स्वच्छता रैंकिंग में स्थान दिलवाना है। उन्होंने कहा कि वार्ड कमेटियों के गठन से एक ओर जहां नगर निगम द्वारा किए जाने वाले कार्यों में नागरिकों की भागीदारी को बढ़ावा मिलेगा, वहीं दूसरी ओर सभी के संयुक्त प्रयासों अपने शहर गुरूग्राम को स्वच्छ, सुंदर और बेहतर बनाकर अपने लिए स्वस्थ पर्यावरण बना पाएंगे।
नगर निगम आयुक्त यशपाल यादव ने कहा कि हमारा पहला कदम हमें एक बड़ी मंजिल की तरफ ले जाता है। इसी विश्वास के साथ नगर निगम द्वारा नई-नई पहल शुरू  की जा रही हैं, ताकि सभी के सहयोग और सुझाव से गुरूग्राम को बेहतर शहर बना पाएं। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधीजी ने सरकारी कार्यों में नागरिकों की भागीदारी को सुनिश्चित करने की बात कही थी, जिसकी पालना में संविधान में संशोधन किए गए हैं। उन्होंने कहा कि आज की यह शुरूआत गुरूग्राम के लिए एक नया मोड़ ले रही है तथा एक इतिहास कायम करने का कार्य इस शुरूआत के साथ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमने यह महसूस किया है कि शहर के नागरिक जिम्मेदारी उठाना चाहते हैं और इसी को देखते हुए वार्ड कमेटियों का गठन किया गया है। प्रत्येक नागरिक काम करने को तैयार है, उसे मंच और नेतृत्व प्रदान करने की जरूरत है। आप सभी के सुझावों और सहयोग से समस्याओं का समाधान होगा, इसलिए आप अपने पार्षद और वार्डों के लिए नियुक्त अधिकारियों के माध्यम से अपने सुझाव नगर निगम तक पहुंचाएं।
निगमायुक्त ने एक पावर प्वाईंट प्रैंजेटेशन के माध्यम से नगर निगम द्वारा किए जा रहे कार्यों और नए इनिशिएटिव के बारे में जानकारी दी। उन्होंने मुख्य रूप से ठोस कचरा प्रबंधन, कंपोस्टिंग परियोजना, सीएंडी वेस्ट मैनेजमैंट, वाटर मैनेजमैंट, सक्शन टैंकर मैनेजमैंट, सीवरेज मैनेजमैंट, गे्रडिड रैस्पांस एक्शन प्लान, सिटी बस सर्वि, ग्रीन कवर, वर्टीकल गार्डन, ग्रीन बैल्ट एवं बांध का विकास, बादशाहपुर ड्रेन का सौंदर्यकरण, रेनवाटर हारवैस्टिंग सिस्टम को बढ़ावा देना, साइकिल टै्रक बनाने तथा साइकलिंग को बढ़ावा देने, बागवानी कचरा प्रबंधन, खेल सुविधाओं का विकास, कार पार्किंग तथा बायोगैस प्लांट के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कंपोस्टिंग को बढ़ावा देने के लिए तकनीक और मशीनरी सहायता हेतु एजेंसियों को एम्पैनल किया गया है। इसके साथ ही ग्रीन कवर बढ़ाने हेतु पिछले वर्ष 1 लाख 10 हजार पौधे लगाए गए हैं तथा आने वाले मानसून के दौरान 2 से 3 लाख पौधे लगाने की योजना है। इसके साथ ही नागरिकों से भी आह्वान किया गया है कि वे अपने घर के सामने कम से कम एक पौधा अवश्य लगाएं। रेनवाटर हारवैस्टिंग को बढ़ावा देने हेतु भी एजेंसियों को एम्पैनल किया गया है। बादशाहपुर ड्रेन के सौंदर्यकरण का कार्य प्रथम चरण में सीएसआर के तहत शुरू कर दिया गया है तथा झाड़सा बांध एवं वजीराबाद बांध का सौंदर्यकरण एवं विकास किया गया है। नगर निगम के अधीन पार्कों तथा ग्रीन बैल्ट क्षेत्रों में माइक्रो एसटीपी लगाने का कार्य किया जा रहा है। इससे एक ओर जहां पेयजल की बचत होगी, वहीं दूसरी ओर हरियाली को बढ़ावा मिलेगा और पर्यावरण शुद्ध होगा।
एडीशनल म्यूनिसिपल कमिशनर वाईएस गुप्ता ने सभी से आह्वान किया कि वे अपने घर के साथ-साथ आसपास के क्षेत्र की सफाई का भी ध्यान रखें तथा अगर कोई व्यक्ति कचरा फैलाता है, तो उसे ऐसा करने से रोकें। उन्होंने कहा कि स्वच्छता की इस मुहिम में सामाजिक भागीदारी का होना बहुत ही जरूरी है। सफाई संबंधी शिकायत के लिए स्वच्छता एप का इस्तेमाल करें और स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 में अपने शहर को जिताने के लिए स्वच्छता फीडबैक अवश्य दें।
इससे पूर्व, संयुक्त निगमायुक्त विवेक कालिया ने आए हुए सभी प्रतिनिधियों का स्वागत किया तथा उन्हें वार्ड कमेटियों के गठन का उद्देश्य और किए जाने वाले कार्यों की जानकारी दी। कार्यक्रम में स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 के बारे में जानकारी देते हुए सभी को अपने मोबाइल में स्वच्छता एप डाऊनलोड करने और गंदगी संबंधी शिकायत एप के माध्यम से भेजने का अनुरोध किया गया। संयुक्त निगमायुक्त रविन्द्र यादव ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। मंच का सफल संचालन नगर निगम के आईटी सलाहकार विनोद वर्मा द्वारा किया गया, जबकि स्वच्छ भारत मिशन के तहत गठित प्रोजैक्ट इंप्लीमैंट यूनिट की सिटी लीडर सोनिया दूहन ने एक प्रैंजेटेशन के माध्यम से स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
इस मौके पर सीनियर डिप्टी मेयर श्रीमती प्रमिला गजेसिंह कबलाना, डिप्टी मेयर श्रीमती सुनीता यादव, एडीशनल म्यूनिसिपल कमिशनर वाईएस गुप्ता, संयुक्त निगमायुक्त विवेक कालिया एवं रविन्द्र यादव, डिप्टी म्यूनिसिपल कमिशनर इन्द्रजीत कुल्हडिय़ा, सिटी प्रोजैक्ट ऑफिसर महेन्द्र सिंह सहित निगम पार्षदगण, अधिकारीगण तथा वार्ड/एरिया/सब-एरिया कमेटियों के प्रतिनिधि एवं एनजीओ के प्रतिनिधि उपस्थित थे।