देश राजनीती राज्य होम

महागठबंधन से अब्बास अंसारी की उम्मीदवारी तय,इस सीट से बनेंगे बसपा उम्मीदवार

महागठबंधन से अब्बास अंसारी की उम्मीदवारी तय,इस सीट से बनेंगे बसपा उम्मीदवार

यूपी में सपा और बसपा का महागठबंधन तय हो गया है.सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का कहना है कि एक हफ्ते के भीतर अधिकारिक रूप से सपा-बसपा के गठबंधन का एलान हो जाएगा वही इस महागठबंधन में राष्ट्रीय लोक दल भी शामिल होगा लेकिन कांग्रेस को इस गठबंधन में ज़गह नही मिलेगी.कांग्रेस को सपा-बसपा अमेठी और राय बरेली की सीट छोड़ेगी.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,सपा और बसपा 35-35 सीटो पर चुनाव लड़ सकती है वही रालोद के लिए तीन से चार सीट छोड़ी जा सकती है बाकी सीटो पर अन्य दल उतर सकते है.दोनों नेताओ के पार्टी सूत्रों के अनुसार,सपा-बसपा के नेता अभी कौन सी सीट किस पार्टी के खाते में जाए इसको लेकर सहमति बना रहे है.

अब्बास अंसारी को यहाँ से मिल सकता है मौका-बसपा के सूत्रों के अनुसार,बसपा आजमगढ़ और घोसी लोकसभा सीट अपने पास रखना चाहती है.सपा जहाँ आजमगढ़ से अभी दावा नही छोड़ रही है वही घोसी से सपा ने बसपा को वाक् ओवर दे दिया है इसलिए ये तय माना जा रहा है घोसी सीट बसपा के खाते में जा रही है.

बसपा सूत्रों के अनुसार,घोसी में महागठबंधन अब्बास अंसारी को प्रत्याशी बना सकता है वैसे भी अब्बास अंसारी ने बसपा सुप्रीमो से इसी सीट से लोकसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है.दलित,मुस्लिम और भूमिहारो के वर्चस्व वाली इस सीट में कांग्रेस नेता कल्पनाथ राय के सियासी पतन के बाद सपा और बसपा का ही दबदबा रहा लेकिन 2014 में भाजपा ने पहली बार इस सीट पर विजय पताका फहराया.

भाजपा के लिए अब्बास अंसारी को रोकना मुश्किल-पिछले लोकसभा चुनावों में भाजपा ने पहली बार इस सीट पर विजय पताका फहराया था.भाजपा उम्मीदवार हरी नारायण राजभर ने बसपा उम्मीदवार दारा सिंह चौहान को एक लाख चालीस हजार के मार्जिन से हराया लेकिन दरअसल पिछली बार इस सीट पर चतुकोनीय लड़ाई हुआ था.

अगर इस सीट पर 2014 लोकसभा चुनाव के नतीजे के आधार पर बसपा,सपा और कौमी एकता दल(मुख्तार अंसारी) के मतों को जोड़ दिया जाए फिर भाजपा 3.79 लाख मतों के मुकाबले महागठबंधन को 5.7 लाख मत मिलेंगे जोकि अपने आप में बता रहा है भाजपा को इस सीट पर कितनी बड़ी मुश्किल होने वाली है.

Shivam Tiwari
  Reporter
India Now24