Breaking News देश राज्य होम

जेल के 25 वर्षीय बंदी की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत

जेल के 25 वर्षीय बंदी की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत

रिपोर्टर योगेश गुरूग्राम India Now24

सोहना। भोंडसी जिला जेल के 25 वर्षीय बंदी की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। मृतक सितम्बर 2013 से आजवीन की सजा काट रहा था।

भोंडसी जिला जेल में आजीवन की सजा काट रहा बंदी की मंगलवार की शाम करीब चार बजे अचानक से तबीयत खराब हो गई थी। जिसे जेल अधिकारियों द्वारा तुरन्त प्रभाव से गुरूग्राम के नागरिक अस्पताल में दाखिल कराया गया। बंदी अखिलेश उर्फ मिथून अस्थमा और मानसिक रोग से ग्रस्त रहता था। मंगलवार को गंभीर हालत में अखिलेश उर्फ मिथून को गुरूग्राम के नागरिक अस्पातल के गार्द आपातकालिन वार्ड में दाखिल कराने बाद उपचार शुरू किया। लेकिन सायं पांच बजे बंदी अखिलेश उुर्फ मिथून ने दम तोड़ दिया था। जिसकी सूचना बंदी के परिजनों और जेल अधिकारियों को दी गई। जिसके शव का डाॅक्टरों की गठित बोर्ड टीम के माध्यम से पोस्टमार्टम ़करा परिजनों को सौेंप दिया। मामले की जांच कर रहे एएसआई विनोद कुमार ने बताया कि मृतक बंदी के खिलाफ खेड़की दौला थाना में 2012 में 28 जुलाई को 157 नंबर मामला दर्ज हुआ था। जिसमें हत्या और लूट की वारदात में अखिलेश उर्फ मिथून शामिल था। अखिलेश को अदालत ने 3 सितम्बर 2013 को आजीवन की सजा सुनाई थी। तब से अब तक अखिलेश उर्फ मिथून भोंडसी जिला जेल में था। उन्होने बताया कि अखिलेश की उम्र मात्र 25 वर्ष थी। जो जेल में अस्थमा और मानसिक रुप से बीमार रहने लगा। जेल प्रशासन द्वारा समय-समय पर अखिलेश उर्फ मिथून का उपचार कराया जा रहा था। जांच अधिकारी ने बताया कि अखिलेश उर्फ मिथून को जब से आजीवन की सजा सुनाई गई थी। तब से वह मानसिक तनाव में रहने लगा था।